कितनी बार उजड़-उजड़कर बसती रही दिल्ली,

नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा चुनाव में इस बार किसके सिर पर होगा ताज और किसको मिलेगा राजनीतिक वनवास? क्या यहां भी चलेगा मोदी का जादू या फिर आप या कांग्रेस की बनेगी सरकार? इन सवालों के जवाब 10 फरवरी को चुनाव नतीजों के साथ मिलेंगे। उससे पहले dainikbhaskar.com आपको बता रहा है दिल्ली के इतिहास से जुड़ी हर वो बात जो जानना चाहते हैं आप। इसकी पहली कड़ी में जानिए कैसे सात बार बसी दिल्ली, हर बार उजड़-उजड़कर कर आबाद होती रही दिल्ली-
इंद्रप्रस्थ में थी पांडवों की राजधानी
दिल्ली का इतिहास महाभारतकाल से शुरू होता है। पुराने किले के पास इंद्रपत नाम का गांव था। माना जाता है कि पांडवों की राजधानी इंद्रप्रस्थ वहीं थी। इंद्रप्रस्थ की नींव पर ही मुगल शासक हुमायूं ने पुराना किला बनवाया था। नीली छतरी और निगमबोध इलाके में भी इंद्रप्रस्थ से जुड़े कुछ साक्ष्य हैं।
पहला शहर लालकोट जिसे तोमर राजा ने बसाया
दस्तावेजी इतिहास में दिल्ली के बारे में पहला जिक्र 737 ईसवीं में मिलता है। तब राजा अनंगपाल तोमर ने इंद्रप्रस्थ से 10 मील दक्षिण में अनंगपुर बसाया। यहां ढिल्लिका गांव था। कुछ बरस बाद उस पर राजा ने लालकोट नगरी बसाई। लेकिन ढिल्लिका गांव का नाम चलता रहा। कहा जाता है कि हुमायूं ने बाद में इसी नींव पर पुराना किला बनवाया। 1180 में चौहान राजा पृथ्वीराज तृतीय ने किला राय पिथौरा बनाया। किले के अंदर ही कस्बा बसता था। दीवारें 6 मीटर तक चौड़ी और 18 मीटर तक ऊंची थीं। लेकिन मोहम्मद गोरी ने उन्हें हरा दिया और भारत में तुर्कों की एंट्री हो गई।
शिलाजीत के फायदे : शुद्ध शिलाजीत घर बैठे ऑर्डर करने के लिए लिंक पर क्लिक करें मूल्य 698rs
ढीले लिंग को मजबूत करने का डॉ नुस्खे Kam-C oil मूल्य 399rs घर बैठे ऑर्डर करने के लिए click करें

ankit1985

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

भारत में मुगल साम्राज्य की नींव पड़ने के अलावा 21 अप्रैल के नाम और क्या दर्ज है?

Tue Sep 29 , 2020
नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा चुनाव में इस बार किसके सिर पर होगा ताज और किसको मिलेगा राजनीतिक वनवास? क्या यहां भी चलेगा मोदी का जादू या फिर आप या कांग्रेस की बनेगी सरकार? इन सवालों के जवाब 10 फरवरी को चुनाव नतीजों के साथ मिलेंगे। उससे पहले dainikbhaskar.com आपको बता रहा है दिल्ली के […]
Loading...
Loading...