3 दिन मे बवासीर को जड़ से खत्म करने का 100% रामबाण उपचार

आज की भागदौड़ भरी जिन्दगी में समय पर भोजन नहीं करना और कम पानी पीना, नियमित रूप से व्यायाम नहीं करना और घंटों एक ही जगह पर बैठे रहना, कब्ज जैसी आदतों से लोग कई बीमारियों के शिकार होते हैं। पिछले कुछ समय से लोगों में बवासीर बीमारी लोगों में अधिक देखने को मिल रहा है। इसकी मुख्य वजह लोगों का घंटों तक कंप्यूटर के सामने बैठे रहना है और जंकफूड आदि का सेवन है।

बवासीर के लक्षण : बवासीर मुख्य रूप से दो प्रकार का होता है। एक इंटरनेल हेमोराइड्स (अंदरूनी बवासीर) और दूसरा एक्टर्नल हेमोराइड (बाहरी बवासीर) है। बवासीर में मलद्वार के पास की नसों में सूजन होता है। अंदरूनी बवासीर को छूना मुश्किल है, लेकिन उसे महसूस किया जा सकता है, जबकि बाहरी बवासीर में बाहर से सूजन होता है और इसी पहचानना मुश्किल नहीं है।

अगर आपको मल त्यागते वक्त मलद्वार में असहनीय दर्द होता है या मलद्वार से खून आता है या फिर खुजली होती है तो समझिए आप बवासीर से ग्रस्त हैं।

बवासीर से बचने और उससे मुक्ति पाने के कुछ असरदार उपायों पर हम एक नजर डालते हैं।

* फाइबरयुक्त फू्ड्स का न केवल सेवन करना चाहिए बल्कि इसे अपनी आदत बना लेनी चाहिए।

प्रति दिन 8 से 10 ग्लास पानी जरूर पिएं

* समय पर भोजन जरूर करें

* रात के वक्त सोते वक्त कुछ किशमिश पानी में भिगोकर रखें और सुबह उठते ही फूले हुए किशमिश के साथ पानी भी पीएं। इससे आपको बवासीर से बड़ा लाभ होगा।

गैस, बदहजमी  डॉ नुस्खे Grapes Jeely किट ऑडर करने लिए क्लिक करे WhatsApp 9717393140

https://chatwith.io/s/5f200d268bd4e

 

* बवासीर के इलाज के लिए प्रति दिन दो लीटर लस्सी में करीब 50 ग्राम जीरे का पाउडर मिलाकर उसे पूरा दिन पानी की जगह पीना चाहिए। ऐसा करने से बवासीर के मस्से मिट जाते हैं।

* आम की गुठली के अंदर का हिस्सा और जामून की गुठली के अंदर के हिस्सों को सुखाकर उनका चूरण बना लें। फिर उसे हल्के गरम पानी या लस्सी में मिलाकर प्रति दिन सेवन करने से भी बवासीर में राहत मिलेगी।

* फलों के ताजा जूस और सब्जियों के सूप का सेवन करें।

* रात में खजूर को फूलालें और सुबह फूला हुआ खजूर खाएं। ऐसा करने से कब्ज खत्म होकर पेट साफ हो जाता है।

स्तन की मसाज के लिए अगर डॉ. नुस्खे Breast Plus तेल की बात करें तो ये महिलाओं के लिए संजीवनी से कम नहीं क्योंकि ये स्तन को सुडौल और आकर्षक फिगर प्रदान करने में लाभदायक है।आयुर्वेदिक उपचार औषधि किट घर बैठे आर्डर करने के लिए लिंक पर क्लिक करें

https://waapp.me/wa/2P6RsVBh

* बवासीर के इलाज में इलायची का भी बड़ा योगदान है। बवासीर पीड़ित करीब 50 ग्राम बड़ी इलायची लेकर उन्हें भून लीजिए। इलायची जब ठंडी हो जाए तो उन्हें पीसकर रख लीजिए। हर दिन सुबह एक चमच पानी में मिलाकर खाली पेट पिएं। इसके नियमित इस्तेमाल से काफी राहत मिलेगी।

* एक चमच शहद में एक चौथाई हिस्सा दालचीनी का चूर्ण मिलाकर खाने से भी बवासीर में लाभ होता है।जब तक बवासीर पूरी तरह से खत्म नहीं होता, तब तक पीड़ितों को चटपटे, खट्टे, मिर्ची, मसलेदार खाने से परहेज करना चाहिए।

ankit1985

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

आखिर क्यों दी जाती है खाली पेट लहसुन खाने की सलाह

Wed Jul 29 , 2020
आज की भागदौड़ भरी जिन्दगी में समय पर भोजन नहीं करना और कम पानी पीना, नियमित रूप से व्यायाम नहीं करना और घंटों एक ही जगह पर बैठे रहना, कब्ज जैसी आदतों से लोग कई बीमारियों के शिकार होते हैं। पिछले कुछ समय से लोगों में बवासीर बीमारी लोगों में […]
Loading...
Loading...