Loading...
Loading...
Loading...

हकलाहट के उपचार के लिए 6 आयुर्वेदिक नुस्खे

By on November 9, 2015

stammering-treatment-hindi

Loading...

हकलाने की आयुर्वेदिक चिकित्सा

loading...

हकलाने में आदमी को बोलने और शब्‍दों के उच्‍चारण में समस्‍या होती है। आँखें भीचना, होठों में कंपकंपाहट, ज़मीन पर थपथपाना, हकलाने के लक्षण हैं। हकलाकर बोलना और अटक-अटक कर बोलना, दोनों का मतलब एक ही है – वाक् शक्ति में गड़बड़ी, जिसमे बोलनेवाला, बोले हुए शब्दों को दोहराता है या उन्हें लंबा करके बोलता है। हकलाने वाला या अटक कर बोलने वाला, बोलते-बोलते रुक सकता है या कुछेक शब्दांशों की कुछ आवाज़ ही नहीं निकाल पाता।

हकलाने और अटककर बोलने की बीमारी अधिकतर बच्चों में पाई जाती है और हकलाने वाले बच्चों के माता पिता को बच्चों की यह बीमारी असीमित परेशानी में डाल देती है, और बच्चों को निराशा से भर देती है और फिर, आजकल के मशीनी युग में बच्चों में यह बीमारी इतनी गहन भावनाएं पैदा करती है, कि विचारों और अनुभवों को शब्दों में परवर्तित करना मुश्किल हो जाता है।

loading...

loading...

Pages: 1 2 3 4 5 6 7 8

अब पायें अपडेट्स अपने WhatsApp पर प्लीज़ अपना नाम इस नंबर +91-8447832868 पर सीधा भेजें और अपने दोस्तों को बताना ना भूलें...

About Street Ayurveda

Close