मुलेठी के हैं ढेर सारे फायदे

 

मुलेठी का परिचय (Introduction of Mulethi)

मुलेठी (Mulethi, also known as Yashtimadhu  एक गुणकारी जड़ी बूटी है। आमतौर पर लोग इसका इस्तेमाल सर्दी-जुकाम या खांसी में आराम पाने के लिए करते हैं। गले की खराश में इसका उपयोग करना सबसे ज्यादा असरदार होता है। हालांकि मुलेठी के फायदे सिर्फ इतने ही नहीं हैं बल्कि इसका मुख्य इस्तेमाल आयुर्वेदिक दवाइयां बनाने में किया जाता है।

 

मुलेठी क्या है? 

मुलेठी एक झाड़ीनुमा पौधा होता है। आमतौर पर इसी पौधे के तने को छाल सहित सुखाकर उसका उपयोग किया जाता है। इसके तने में कई औषधीय गुण होते हैं। इसका स्वाद मीठा होता है। यह दांतों, मसूड़ों और गले के लिए बहुत फायदेमंद है। इसी वजह से आज के समय में कई टूथपेस्ट में मुलेठी का इस्तेमाल किया जाता है।

 

मुलेठी के फायदे और सेवन का तरीका 

औषधीय दृष्टि से देखें तो मुलेठी कई रोगों में लाभकारी है। यह वात और पित्त दोष को कम करती है। शरीर के बाहरी हिस्सों की बात करें तो यह त्वचा रोगों और बालों के लिए फायदेमंद हैं। मुलेठी के प्रयोग से खून साफ़ होता है, बाल बढ़ते हैं और बुद्धि तेज होती है।

तो आज ही घर बैठे मुलेठी चूर्ण प्राप्त करने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें
https://waapp.me/wa/66a7psXu

मुलेठी के फायदे बाल बढ़ाने में 

मुलेठी का उपयोग बालों को सही पोषण देने और बढ़ाने में भी किया जाता है। मुलेठी के क्वाथ से बालों को धोने से बालों तेजी से बढ़ते हैं। इसी तरह मुलेठी और तिल को भैंस के दूध में पीसकर सिर पर लेप लगाने से बालों का झड़ना बंद हो जाता है।

 

मुलेठी के फायदे: आंखों के रोगों में 

आंखों में जलन या आंखों से जुड़ा कोई रोग होने पर भी मुलेठी का इस्तेमाल करने से फायदा (mulethi ke fayde) पहुँचता है। इसके लिए मुलेठी के काढ़ा से आंखों को धोएं। इसके अलावा मुलेठी चूर्ण या मुलेठी पाउडर में बराबर मात्रा में सौंफ का चूर्ण मिलाएं । इस चूर्ण को सुबह शाम खाने से आंखों की जलन कम होती है और आंखों की रोशनी बढ़ती है।

 

शुक्राणुओं की संख्या बढ़ेगी और वीर्य होगा गाढ़ा, बढ़ेगा सम्भोग समय और ताकत,, तनाव दे भरपूर

शुक्राणुओं की संख्या न बढ़ें की शिकायत है तो आज ही घर बैठे प्राप्त करने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें

https://waapp.me/wa/Xju7i6TR

 

 

 

 

मुलेठी के फायदे: कंजक्टीवाइटिस या आंख आना  

मुलेठी का औषधीय गुण आँख आने पर उसके दर्द, जलन जैसे लक्षणों से आराम दिलाने में बहुत सहायता करती है

मुलेठी को पानी में पीसकर, उसमें रूई का फाहा भिगोकर आंखों पर बाँधने से आंखों की लालिमा कम होती है।

 

2013 में एक रिसर्च के अनुसार पाया गया कि अश्वगंधा की जड़ का जूस शुक्राणुओं को बढ़ाने में मदद करता है और वीर्य की मात्रा या शुक्राणु गतिशीलता को भी बढ़ाता है। इसके अलावा, यह जड़ी बूटी स्वस्थ टेस्टोस्टेरोन उत्पादन को भी बढ़ावा देती है। यह आपके समग्र स्वास्थ्य में सुधार करता है, जीवन शक्ति को बढ़ाता है और तनाव और चिंता को भी कम करता है।

अश्वगंधा का इस्तेमाल कैसे करें 

  1. एक ग्लास दूध में आधा चम्मच अश्वगंधा पाउडर मिलाएं जिसे इंडियन जिंसेंग भी कहा जाता है।
  2. कुछ महीनों के लिए इस मिश्रण को पूरे दिन में दो बार ज़रूर पियें।
  3. इसके अलावा आप अश्वगंधा जड़ का जूस भी पी सकते हैं।
  4. इसकी खुराक लेने के लिए सबसे पहले अपने डॉक्टर से बात करें।

 

मुलेठी के फायदे : पित्त से होने वाले कान के रोग 

मुलेठी और द्राक्षा से पकाए हुए दूध को कान में डालने से पित्त के कारण होने वाले कान के रोग में लाभ होता है। मुलेठी के औषधीय गुण कान के बीमारियों में बहुत फायदेमंद होते हैं।

 

मुलेठी के फायदे: नाक के रोगों से आराम 

3-3 ग्राम मुलेठी और शुण्ठी में छह छोटी इलायची और 25 ग्राम मिश्री मिलाकर इसका काढ़ा बनाएं। इस काढ़े की 1-2 बूँद नाक में डालने से नाक के रोग ठीक होते हैं।

 

मुलेठी के फायदे: गला बैठने के इलाज में लाभदायक 

कभी कभी गले में संक्रमण की वजह से गला बैठ जाता है और ऐसी हालत में आवाज भारी हो जाती है या आवाज नहीं निकलती है। मुलेठी को मुंह में लेकर चूसते रहने से गला बैठने की समस्या में आराम मिलता है। मुलेठी चूसने से गले के कई अन्य रोगों में भी जल्दी फायदा  मिलता है।

 

मुलेठी के फायदे खांसी या सूखी खांसी में 

मुलेठी मुंह में रखकर देर तक चूसते रहने से खांसी से आराम मिलता है। अगर आपको सूखी खांसी है तो एक चम्मच मुलेठी को शहद के साथ मिलाकर दिन में 2-3 बार चाटकर खाएं। इसी तरह मुलेठी का काढ़ा बनाकर 20-25 मिली मात्रा का सुबह और शाम को सेवन करने से मुलेठी का पूरा फायदा मिलता है

 

फ्री आयुर्वेदिक उपचार पाने के लिए ग्रुप जॉइन करने के लिए क्लिक* करें https://www.facebook.com/groups/834348483762327/?ref=share

सिगरेट, गुटखा, शराब, अफीम, बीड़ी, गांजे, भांग को छुड़ाने की आयुर्वेदिक औषधि G1Drop हर भारतीय शेयर करे शायद किसी का घर बच जाए| घर बैठे ऑर्डर करने के लिए क्लिक करें https://waapp.me/wa/3fV2wDHS

वजन बढ़ाने की सफल आयुर्वेदिक औषधिदुबले पतले है वजन बढाकर स्मार्ट दिखना चाहते तो ये आपके लिए है (डॉ. नुस्खे वेह ऑन वेट गेनर) Dr. Nuskhe weight gainer आपको दुबलेपन , कमजोर शरीर व पिचके हुए गालो से छुटकारा दिला घर बैठे ऑर्डर करने के लिए क्लिक* करें https://waapp.me/wa/5HTPfmHU

ब्रेस्ट बढ़ाने के लिए यह पूरी तरह से एक प्राकृतिक प्रॉडक्ट है। अगर आप अपने स्तन को सही आकार और टाइट करना चाहती हैं तो इस तेल से 5 से 10 मिनट तक हल्की मसाज करें। घर बैठे ऑर्डर करने के लिए क्लिक *करें https://waapp.me/wa/V5HvGv36

वीर्य गाढ़ा करने का चूर्ण मूल्य 998rs घर बैठे ऑर्डर करने के लिए क्लिक *करें https://waapp.me/wa/r1reWhvv

मोटापे से परेशान, बहुत तेजी से वजन घटाने की आयुर्वेदिक उपचार किट घर बैठे ऑर्डर करने के लिए क्लिक *करें https://waapp.me/wa/725u6yZG

अंग्रेजी दवाई से नहीं हो रही कमी शुगर में – आयुर्वेदिक औषधि 50 दिन की दवाई घर बैठे ऑर्डर करने के लिए क्लिक* करें https://waapp.me/wa/qftfPFh7

Piles, बवासीर को आयुर्वेद से जड़ से खत्म करने की आयुर्वेदिक औषधि मूल्य 777rs घर बैठे ऑर्डर करने के लिए क्लिक* करें https://waapp.me/wa/JdEvzA9c

फ्री आयुर्वेदिक उपचार पाने के लिए ग्रुप जॉइन करने के लिए क्लिक* करें https://www.facebook.com/groups/834348483762327/?ref=share

पोस्ट को हर भारतीय शेयर करे और घर घर आयुर्वेद पहुंचाएं 😊

ankit1985

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

भूलकर भी नहीं खाएं ये चीज़ें सावन में लग जाती हैं बीमारियां होते हैं शिव जी नाराज

Wed Jul 8 , 2020
  मुलेठी का परिचय (Introduction of Mulethi) मुलेठी (Mulethi, also known as Yashtimadhu  एक गुणकारी जड़ी बूटी है। आमतौर पर लोग इसका इस्तेमाल सर्दी-जुकाम या खांसी में आराम पाने के लिए करते हैं। गले की खराश में इसका उपयोग करना सबसे ज्यादा असरदार होता है। हालांकि मुलेठी के फायदे सिर्फ […]
Loading...
Loading...