बिना कूलर, एसी के घर को ठंडा रखने के ये हैं 10 उपाय, गर्मी से मिलेगा छुटकारा

गर्मियों में कूलर, पंखा, एयर कंडीशनर जैसे उपकरण आपके घरों को ठंडा रखने में मदद करते हैं लेकिन इनके अधिक प्रयोग के कारण आपके शरीर में कई समस्‍याएं हो सकती हैं। अगर आप एयरकंडीशनर में कई घंटे बिताने के बाद धूप के संपर्क में आते हैं तो बीमारी पड़ सकते हैं। इसके साथ ही ज्‍यादा एसी के प्रयोग से आलस तो आता ही है साथ ही हड्डियां भी कमजोर होती हैं। अगर आप प्राकृतिक चीजों के सहारे घर को ठंडा रखने चाहते हैं तो ये 10 तरीके आपके लिए मददगार हो सकते हैं

दिन के समय में छतों द्वारा सोलर विकिरणों को अवशोषित कर लिया जाता है। इससे गहरे रंग की छतें काफी गर्म हो जाती हैं। छतों पर ‘सफेद पेंट’ या पीओपी करने से इसके प्रभाव में 70 से 80 प्रतिशत तक की कमी लाई जा सकती है। सफेद रंग रिफ्लेक्टर का काम करता है।

अत्यधिक सूरज की रोशनी ने आपके कमरे को गर्माहट से भर देती है। इससे बचने के लिए पर्दों का इस्‍तेमाल करें। यह गर्मी को सोख कर घर को ठंडा रखते हैं। गाढ़े रंग के पर्दे धूप को अपनी ओर खींचते हैं। वहीं हल्के, पेस्टल और व्हाइट जैसे रंग धूप से बचाते हैं। मतलब पदरें का रंग जितना हल्का, आपका घर उतना ही ठंडा।

कमरे में बिछे कालीन से भी घर गर्म रहता है। इसलिये घर मे ठंडक को बनाये रखने के लिए कमरे में बिछे कालीन को हटा देना चाहिए। खाली फर्श ठंडा रहता है और गर्मी के दिनों में ठंडे फर्श पर नंगे पैर चलना अच्‍छा लगता है।

खि‍ड़कियों से भी आपका घर कुदरती रूप ठंडा रहता है। इसके लिए जरूरी है कि ऑफिस जाने से पहले अपने घर की सभी खिड़कियों को बंद करके जाएं और रात में घर को ठंडा बनाने के लिये सारी खिड़कियां खोल दें।

गर्मी में गहरे रंग से गर्मी का अहसास ज्‍यादा होता है। इसलिए घर में ठंडक बनाये रखने के लिए जरूरी हैं कि बेडरूम में बेडकवर का रंग हल्‍का हो। हल्‍के गुलाबी, सफेद और हल्‍का पीला रंग सौम्‍य लगता हैं, जबकि नीला और लाल रंग गर्मी बढाते हैं।

घर को ठंडा करने के लिए जरूरी है कि उसकी छतेंं ठंडी रखें। इसके लिए सुबह शाम घर की छत पर पानी से छिड़काव करें या छत पर टाट को रखें। इससे घर की दीवारों का तापमान कम होता है। साथ ही ठंडक के लिये खस की टाट को पानी से भिगो कर टांगने से घर में ठंडक बनी रहती है। इसके अलावा टब या बाल्‍टी में पानी भर कर कमरे में रखने से पानी से पंखे की हवा टकरा कर घर को ठंडा करती है।

बिजली से जुड़े उपकरण दिनभर में आपकी बहुत मदद करते हैं, लेकिन इनके कारण घर ज्यादा गर्म रहता है। क्‍योंकि बिजली से चलने वाले उपकरण बहुत ज्यादा गर्मी पैदा करते हैं। इसलिए आपको जरूरत ना होने पर टेलीविजन, डेस्कटॉप, वॉशिंग मशीन और ओवन जैसे उपकरणों को प्रयोग कम करना चाहिए।

लाइट का कम इस्‍तेमाल

लाइट घर के तापमान बढ़ाने और घटाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। ऐसे में कुछ बातों का ध्यान रखना होगा। बहुत ज्यादा चमकने वाले बल्ब न लगाएं। जहां बैठने की जगह है, एकदम वहीं पर सिर के ऊपर लाइट नहीं होनी चाहिए। सीलिंग लाइट गर्मी पैदा करती हैं।

पौधों से ठंडक

घर के प्रवेश द्वार और बरामदे के आस-पास पौधों को रखने से गर्मी के असर को काफी हद तक कम किया जा सकता है। पौधों के कारण आपके घर का तापमान 6 से 7 डिग्री तक कम ही रहता है। पौधे आप घर के अन्‍दर भी लगा सकती हैं, यह घर में हवा और शीतलता का एहसास कराते हैं। इनके द्धारा छोड़ी गई ऑक्‍सीजन से पूरा घर ठंडा रहता है।

ankit1985

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

संतोषी माता को प्रसन करने के टोटके

Fri May 3 , 2019
गर्मियों में कूलर, पंखा, एयर कंडीशनर जैसे उपकरण आपके घरों को ठंडा रखने में मदद करते हैं लेकिन इनके अधिक प्रयोग के कारण आपके शरीर में कई समस्‍याएं हो सकती हैं। अगर आप एयरकंडीशनर में कई घंटे बिताने के बाद धूप के संपर्क में आते हैं तो बीमारी पड़ सकते […]
Loading...
Loading...