Loading...

आजकल पुरुषों के लिंग में ढीलापन और पेनिस की नसों में कमजोरी होना एक गंभीर समस्या बन गई है। लिंग में तनाव न आना या लिंग का ढीलापन कोई स्‍थाई या गंभीर समस्‍या नहीं है। जो लोग इस समस्‍या से परेशान हैं उनके लिए लिंग का ढीलापन दूर करने के घरेलू उपाय भी मौजूद हैं। इरेक्‍टाइल डिसफंक्‍शन या लिंग का ढीलापन पुरुषों की यौन कमजोरी को दर्शाता है। इस समस्‍या के कारण महिला और पुरुष दोनों यौन सुख प्राप्‍त करने में अस्‍मर्थ रहते हैं। लिंग में ढीलापन आने का प्रमुख कारण मांसपेशियों, रक्‍त प्रवाह और तंत्रिकाओं का सही तरह से काम न करना हो सकता है। 

 

लिंग की नसों मे ढीलापन के शारीरिक कारण –

  • नसों की कमज़ोरी या तो लिंग मे तनाव नहीं आता है तो इसके पीछे शारीरिक कारण हो सकते है|
  • इंद्रियो और ग्रंथियो का ठीक से काम ना करना, हॉर्मोन्स की कमी होना|
  • कोलेस्ट्रॉल ज़्यादा हो, चर्बी बढ़ जाए शरीर में, उच्च रक्तचाप हो, बीमारी हो तो भी लिंग प्राब्लम होती है और नसों मे कमज़ोरी आ जाती है|
  • लिंग की बीमारी और अंडकोष के कारण भी लिंग ठीक से खड़ा नहीं होता है|
  • आहार सहीं लेना, श्रम ज़्यादा करना, यह भी लिंग की नसों की कमज़ोरी का कारण है|
  • यकृत मे बीमारी, गुर्दे मे बीमारी, प्रॉस्टेट(prostate) में सूजन, रीड की हड्ड़ी पर चोट लगना यह भी शारीरिक कारण है लिंग की नसों की कमज़ोरी के|
  • व्यक्ति अगर शराब ज़्यादा पिए, नशीले पदार्थ, तंबाकू, कोला, कॉफी और चाय का सेवन करे तो भी लिंग प्राब्लम खड़ी हो जाती है|
  • शारीरिक स्वस्थता व्यायाम से होती है और बैठे बैठे जीवन गुज़ारे तो मासपेशिया ढीली हो जाती है और लिंग भी|

लिंग की नसों में कमज़ोरी के मानसिक कारण – 

नसों की कमज़ोरी के कारण मानसिक भी हो सकते है|

  • पुरुष अगर ज़्यादा तनाव भरी जिंदगी जीता है या तो डिप्रेशन(depression) का शिकार हो गया है तो लिंग मे तनाव नहीं आता है|
  • ज़्यादा पोर्न (porn) देखे तो भी लिंग उत्तेजना और उत्थान आसानी से नहीं हो पाता है|
  • संभोग के समय संकोच और देर रहे तो लिंग खड़ा नहीं होता है ठीक से|
  • पार्ट्नर पसंद ना हो और घृणा हो तो दिलचस्पी नहीं रहती है और लिंग खड़ा नहीं होता है|
  • ज्ञानतंतु संबंधित रोग हो जैसे अल्झाइमर (alzheimer) और पार्किंसन (parkinson) तो भी यह तकलीफ़ होती है|
  • दिमागिया हालत असंतुलित हो|
  • इंसान बेचैन और परेशान हो तो भी लिंग खड़ा नहीं होता है|

लिंग की नसों मे कमज़ोरी ढीलापन की पहचान कैसे करे –

  • खुद ही आप पहचान सकेंगे की आपका लिंग ढीला होता जाता है की नहीं|
  • लिंग मे तनाव जल्दी से नहीं आता है यह एक लक्षण है|
  • लिंग जल्दी खड़ा होना और जल्दी डाउन होना यह भी एक चिन्ह् है|
  • लिंग जितना होना चाहिए उतना कठोर नहीं होता है|

लिंग की नसों मे कमज़ोरी ढीलापन के नुकसान –

  • लिंग की बीमारी हो, लिंग जल्दी खड़ा और जल्दी डाउन होना, नसों की कमज़ोरी और पेनिस प्राब्लम इन हिन्दी के कारण नुकसान हो सकता है|
  • खुदका आत्म सम्मान कम होता जाएगा|
  • पार्ट्नर को संतुष्ट नहीं कर पाएँगे और यह तलाक़ का कारण हो सकता है|
  • लड़ाई झगड़े होंगे वैवाहिक जीवन में और संबंध बिगड़ जाते है|
  • उमर से लिंग में ढीलापन आना यह मामूली बात है मगर जवानी में हो तो नसों की कमजोरी का इलाज फ़ौरन करवाना चाहिए|

 

लिंग की नसों मे कमज़ोरी ढीलापन दूर करने के घरेलू उपाय –

बेहतर यह है की लिंग मे तनाव लाने के घरेलू उपाय सामान्य घरेलू सामग्री और आयुर्वेदिक जड़ी बूटी से करे|

 

  • आहार में टमाटर, तरबूज, अखरोट, पालक, देसी घी, दूध, चिलगोज़ा, सौंफ, इलाइची, दालचीनी, लौंग, दाल, आमला, अंडे और माँस का सेवन करे|
  • साथ मे हरी मिर्च, लाल मिर्च और काली मिर्च भी लेते रहे क्योंकि यह उत्तेजना में सहायक है|
  • जीरा खाए और फलो मे खास अनार का रस पीते रहे और सब्जी मे सहजन के पत्ते और सहजन(drumstick)ले |
  • यह ध्यान में रखे की सभी विटामिन, खनिज पदार्थ और प्रोटीन पर्याप्त मात्रा में मिले शरीर को|
  • नसों की कमजोरी के इलाज में व्यायाम करे हर रोज जिसमे केगेल(kegel) एक्सर्साइज़ अवश्य करे|
  • ताजी हवा मे रहे, धूप मे भी निकले एक घंटे के लिए और नींद पूरी ले| पानी खूब पीना ना भूले|
  • लिंग की नसों का इलाज जानकार अपनाए तो काफ़ी फरक पड़ेगा| वजन कम है या बढ़ गया है तो इस हालत को भी सुधारे|
  • साथ मे सेक्स कमज़ोरी का इलाज चेक उप और ट्रीटमेंट करवाए डॉक्टर के पास से अगर ज़रूरी है|
  • परीक्षण मे यह साबित होती है की इलाज ज़रूरी है दवा द्वारा तोह उसकी दवा ले|
  • सिल्डेनाफिल (Sildenafil)और तदफील(tadafil) जैसे गोली से टेम्पररी फायदा होगा मगर हमेशा इनका उपयोग ना करे क्योंकि यह फायदे से ज़्यादा नुकसान करेंगी

लिंग की नसों मे कमज़ोरी ढीलापन दूर करने के आयुर्वेदिक इलाज – 

लिंग की नसों मे ढीलेपन का इलाज आयुर्वेदिक जड़ी बूटी और पद्धतियों से करे तो अच्छा फायदा होगा| आयुर्वेदिक नसों की कमजोरी का इलाज इस प्रकार करे:

  • शरीर का शुद्धीकरण करे जिसमे एनीमा (enema) ले, हॉट स्टीम बाथ ले और 2-3 दिन उपवास रख के शरीर मे से विष बाहर निकाल दे|
  • लिंग खड़ा करने के घरेलू उपाय में आयुर्वेदिक जड़ी बूटी अदरक का खूब इस्तेमाल करे आहार में या तो इसका रस पीए दिन मे दो बार शहद के साथ|
  • आयुर्वेद से लिंग की नसों का इलाज इन हिन्दी करे मुसली, अश्वगंधा, गोखरू, कवच बीज,अक्कारकारा, यष्टिमधु, काली मिर्च, सोंठ चूर्ण को ले और घी-गुड के साथ मिला के छोटे लड्डू बनाए और दिन के 3-4 बार सेवन करते रहे|
  • दूध मे क्या मिलके पिए की लिंग मे उतेजना आए ओर कठोर हो जाए यह भी एक सवाल है जिसका जवाब है की गरम दूध में गुड को घोले और एक चम्मच हल्दी मिला के पीते रहे हर रोज रात को संभोग के एक घंटे पहले| लिंग कड़क भी होगा और लंबे समय तक टीका रहेंगा|
  • दूध मे क्या मिलके पिए की लिंग मे उतेजना आए ओर कठोर हो जाए तो इस आयुर्वेदिक लिंग मे तनाव के उपाय प्रयोग मे गरम दूध मे एक चम्मच घी, एक चम्मच अश्वगंधा, एक चम्मच मुसली और एक चम्मच कवच बीज चूर्ण मिलाए और सेवन करे दिन मे दो बार|
  • एक और उपाय है की गरम दूध मे शिलाजीत मिला के ज़रूर पिए दिन मे दो बार या तो रात को सोने से पहले|
  • दूध मे छुहारे उबाले, मुन्नका भी डाले और फिर घी मिला के इस दूध का सेवन करे सेक्स कमज़ोरी के इलाज में|
  • लिंग का ढीलापन के उपाय इन हिन्दी करे मालिश से जिसमे सरसों का तेल, तिल का तेल या तो घी को हल्का गरम करके सोते समय लिंग की मालिश करे 10 मिनिट तक| तिल के तेल मे जौ का आटा मिला के लेप कर के लगा के रखे रात भर| अश्वगंधा और चमेली के तेल का उपयोग भी फायदाकारक है|
  • घी मे हींग पिघला के लिंग की मालिश करे|
  • ईमली के बीज को भिगोए और छिलका निकाल के पेस्ट बनाये और घी मे भुन के चीनी या शहद के साथ सेवन करे|

क्या आप भी लिंग के ढीलेपन से परेशान हैं तो आज ही Dr. Nuskhe Kam C Kit आर्डर करने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें

Call/Whatsapp- 7827204210

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
Loading...