गणपति और बुध ग्रह की बुधवार को पूजा कर प्राप्त करें श्री और ज्ञान का वरदान

गणपति पूजन का दिन 

वैदिक मान्यताओं के अनुसार प्रत्येक देवी देवता के पूजन का एक दिन नियत होता है। इसी क्रम में श्री गणेश की पूजा का विशेष दिन बुधवार बताया गया है। इसके साथ इस दिन बुध ग्रह की प्रसन्नता के लिए भी पूजा की जाती है, क्‍योंकि बुधवार के स्वामी बुध ग्रह भी है। बुध और गणेश दोनों ही बुद्धि के कारक माने जाते हैं। अत: इस दिन बुद्धि के दाता श्री गणेश की मोदक का भोग लगाकर पूजा करने से ज्ञान का वरदान प्राप्‍त होता है, और बुध ग्रह भी होता है शांत।

कुंडली में बुद्ध ग्रह की शांति पूजा

मान्यता है कि यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में बुध ग्रह अशुभ स्थिति में हो तो उसे बुधवार को गणेश जी को सिंदूर, चंदन, यज्ञोपवीत, दूर्वा,अर्पित करके लड्डू या गुड़ से बनी मिठाई का भोग लगाना चाहिए।

इसके अलावा इस दिन धूप व दीप से श्री गणेश की आरती करें। साथ ही पूजा के दौरान नीचे दिए मंत्र का जाप भी करें।

प्रातर्नमामि चतुराननवन्द्यमानमिच्छानुकूलमखिलं च वरं ददानम्,

पुरुषों में मरदाना ताकत बढ़ाने की आयुर्वेदिक उपचार किट पाने के लिए WhatsApp 7827204210 करें

फ्री आयुर्वेदिक उपचार पाने के लिए नीचे दिए ग्रुप को लिंक पर क्लिक करें और आज ही जुड़ें https://rebrand.ly/freehealthtipsgroup

ankit1985

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

स्टडीः इस उम्र के युवा सबसे ज्यादा बनाते हैं शारीरिक संबंध

Wed Apr 17 , 2019
गणपति पूजन का दिन  वैदिक मान्यताओं के अनुसार प्रत्येक देवी देवता के पूजन का एक दिन नियत होता है। इसी क्रम में श्री गणेश की पूजा का विशेष दिन बुधवार बताया गया है। इसके साथ इस दिन बुध ग्रह की प्रसन्नता के लिए भी पूजा की जाती है, क्‍योंकि बुधवार […]
Loading...
Loading...