बवासीर से परेशान हैं तो अपनाएं ये नुस्खे,

लगातार कब्ज रहने की वजह से बहुत सारे लोगों को बवासीर की परेशानी हो जाती है, जिसमें इंसान का बैठना तक दुश्वार हो जाता है। मेडिकल भाषा में इसे पाइल्स और हेमरॉइड्स कहते हैं। इस रोग में गुदा (ऐनस) के आंतरिक और बाहरी हिस्से पर सूजन और फुंसियां हो जाती हैं। यह बीमारी ज्यादातर 45 से 65 साल के लोगों में देखने को मिलती है।

बवासीर दो तरह की होती है। एक में खून आता है, लेकिन इतनी दर्द नहीं होता। जबकि दूसरी में पेट में कब्ज बन जाती है और पेट हमेशा खराब रहता है। आइए जानते हैं इसके घरेलू इलाज के बारे में..

 

बवासीर एक ऐसी समस्या है जिससे काफी लोग परेशान रहते है। इसे अग्रेंजी में पाइल्स भी कहते हैै। बवासीर दो तरह की होती हैं खूनी और बादी । खूनी बवासीर में किसी प्रकार की तकलीफ नहीं होती केवल खून आता है और बादी बवासीर रहने पर पेट खराब रहता है और कब्ज हो जाती है।  यह समस्या गल्त खान-पान की वजह से भी हो सकती है। आइए जाने बवासीर होने पर किन चीज़ों से रखें परहेज।

बवासीर होने पर मसालेदार और तला हुआ खाना नहीं खाना चाहिए। इसके अलावा खाने में मिर्च का भी कम प्रयोग करें।
पाइल्स की समस्या वाले लोगों को कम से कम जंक- फूड खाना चाहिए। उन्हें अपने भोजन में हरी सब्जियां, फल आदि का सेवन करना चाहिए जो शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है।
इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए बीन्स (राजमा) और दालों का सेवन नहीं करना चाहिए।
देशी घी वैसे तो शरीर के लिए फायदेमंद होता है पर कई बार इससे पाइल्स की समस्या बढ़ जाती है। इसलिए देशी घी का कम सेवन करें।
पाइल्स होने पर घर का बना हुआ खाना ही खाना चाहिए और जहां तक हो चाय, कॉफी, कोल्ड ड्रिंक जैसे पेय पदार्थ न पिएं।
इसके अलावा किसी भी तरह के मांसाहारी चीजों का सेवन भी न करें।

 

बवासीर बहुत पीड़ादायक बीमारी है। आजकल यह बीमारी आम देखने को मिल रही है। बवासीर बीमारी का खास कारण पानी कम मात्रा में पीना, अनियमित दिनचर्या और खान-पान है। बवासीर का दो तरह की होती है खूनी बवासीर और मस्से वाली बवासीर। खूनी बवासीर में मलत्याग करते हुए पीड़ा होने के साथ खून भी बहुत निकलता है। मस्से वाली बवासीर में पीड़ा और खुजली की समस्या होती है। इस बवासीर में सूजन गुदा के बिल्कुल बाहर होती है। अगर आप इस  समस्या से परेशान है तो इन घरेलू उपायों को इस्तेमाल करके छुटकारा पा सकते है।

बवासीर से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय

1. जीरे का करें इस्तेनाल

जीरे को प्रयोग में लाने के लिए 2 लीटर छाछ में 50 ग्राम जीरा पाउडर और थोड़ा नमक मिलाएं। जब भी आपको प्यास लगे तब ही इसे पीएं। चार दिन लगातार इसे पीने से मस्से ठीक हो जाते हैं। इसके अलावा एक गिलास पानी में आधा चम्मच जीरा पाउडर पी सकते हैं।

जामुन और आम की गुठली

खूनी बवासीर में यह बहुत असरदार उपाय है। इसे इस्तेमाल करने के लिए जामुन और आम की गुठली के अंदर के हिस्से को सूखा कर चूर्ण की तरह पीस लें। रोजाना हल्के गर्म पानी या छाछ में एक चम्मच चूर्ण को मिलाकर पीएं।

इसबगोल

इसबगोल के सेवन से अनियमित और सख्त मल से छुटकारा मिलता है। इसे खाने से पेट बड़ी आसानी से साफ होता है और मलत्याग के समय दर्द भी नहीं होती।

बड़ी इलायची

बवासीर के उपचार के लिए बड़ी इलायची बहुत कारगार उपाय है। इसे प्रयोग करने के लिए 50 ग्राम बड़ी इलायची को तवे पर रख कर अच्छी तरह से भून लें और फिर ठंडा करके इसे पीस लें। रोजाना खाली पेट इस चूर्ण का पानी के साथ सेवन करें।

किशमिश

बवासीर को खत्म करने के लिए किशमिश भी फायदेमंद है। इसके इस्तेमाल के लिए रात को 100 ग्राम किशमिश पानी में भिगो कर रख लें और सुबह उसी पानी में मसल लें और रोजाना इसका सेवन करें।

दालचीनी चूर्ण

इसके लिए 1 चम्मच शहद में 1/4 चम्मच दालचीनी चूर्ण मिलाएं और रोजाना खाएं। बवासीर से बहुत जल्दी छुटकारा मिलेगा।

 

क्या आप बवासीर से परेशान है तो आयुर्वेदिक मेडिसन आर्डर करने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करे या Call/Whatsapp 7428858589 करे

http://wassmee.us/w/?c=c5f5

ankit1985

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

वजन बढ़ाने के घरेलू तरीके – मोटा होने के उपाय

Tue Jul 30 , 2019
लगातार कब्ज रहने की वजह से बहुत सारे लोगों को बवासीर की परेशानी हो जाती है, जिसमें इंसान का बैठना तक दुश्वार हो जाता है। मेडिकल भाषा में इसे पाइल्स और हेमरॉइड्स कहते हैं। इस रोग में गुदा (ऐनस) के आंतरिक और बाहरी हिस्से पर सूजन और फुंसियां हो जाती […]
Loading...
Loading...