Loading...
पेट से संबंधित कई तरह की समस्याओं में पेट में गैस बनना एक आम समस्या है। छोटी उम्र से लेकर युवाओं और बुजुर्गों तक, हर उम्र के व्यक्ति को कभी न कभी इस समस्या का सामना करना पड़ा है। पेट में गैस बनने के कई कारण हो सकते हैं जैसे अत्यधिक भोजन करना, ज्यादा देर तक भूखे रहने, तीखा या चटपटा भोजन करना, ऐसा भोजन करना जो पचने में कठि‍न हो, ठीक तरीके से चबाकर न खाना, ज्यादा चिंता करना, शराब पीना, कुछ बीमारियों व दवाओं के सेवन के कारण भी पेट में गैस सकती है।
पेट में गैस की समस्या होने पर आमतौर पर यह लक्षण दिखते हैं-
1. भूख न लगना
2. बदबूदार सांसें आना और पेट में सूजन रहना
3. उलटी, बदहज़मी, दस्त होना
4. पेट फूलना
पेट में गैस होने पर जब ऊपर बताए गए लक्षण दिखते तो आपको शर्मिंदा होना पड़ता है। ऐसे में आप जरूर चाहेंगे कि जल्द से जल्द आप इस समस्या से निजात पा लें। तो आइए, जानते हैं पेट में गैस की समस्या से छूटकारा पाने के आसान से घरेलू उपाय:
1. नीबू के रस में 1 चम्मच बेकिंग सोडा मिलाकर सुबह के वक्त खाली पेट पिएं।
2. काली मिर्च का सेवन करने पर पेट में हाजमे की समस्या दूर हो जाती है।
3. आप दूध में काली मिर्च मिलाकर भी पी सकते हैं।
4. छाछ में काला नमक और अजवाइन मिलाकर पीने से भी गैस की समस्या में काफी लाभ मिलता है।
5. दालचीनी को पानी मे उबालकर, ठंडा कर लें और सुबह खाली पेट पिएं। इसमें शहद मिलाकर पिया जा सकता है।
6. लहसुन भी गैस की समस्या से निजात दिलाता है। लहसुन को जीरा, खड़ा धनिया के साथ उबालकर इसका काढ़ा पीने से काफी फादा मिलता है। इसे दिन में 2 बार पी सकते हैं।
7. दिनभर में दो से तीन बार इलायची का सेवन पाचन क्रिया में सहायक होता है और गैस की समस्या नहीं होने देता।
8. रोज अदरक का टुकड़ा चबाने से भी पेट की गैस में लाभ होता है।
9. पुदीने की पत्तियों को उबाल कर पीने से गैस से निजात मिलती है।
10. रोजाना नारियल पानी सेवन करना गैस का फायदेमंद उपचार है।
11. इसके अलावा सेब का सिरका भी गर्म पानी में मिलाकर पीने से लाभ होगा।
12. इस सभी उपचार के अलावा सप्ताह में एक दिन उपवास रखने से भी पेट साफ रहता है और गैस की समस्या पैदा नहीं होती।

गर्भावस्था की शुरुआत में गैस और पेट फूलने की समस्या क्यों होती है?

ज्यादातर गैस और पेट फूलने की समस्या गर्भावस्था के शुरुआती दिनों में होती है। इसलिए, पहले यह जानना ज़रूरी है कि इसका कारण क्या है। आपको बता दें कि गर्भावस्था में प्रोजेस्ट्रोन हार्मोन का स्तर बढ़ने लगता है, जिस कारण पाचन तंत्र सहित शरीर की सभी मांसपेशियां ढीली होने लगती हैं। इस वजह से गर्भवती की पाचन शक्ति धीरे-धीरे कमज़ोर होने लगती है और गैस व पेट फूलने की समस्या से जूझना पड़ता है

सिर्फ गर्भावती को, बल्कि एक आम व्यक्ति को भी परेशानी हो सकती हैं (2) :

1. कब्ज़ के कारण :

गर्भावस्था में ठीक से खाना न पच पाने के कारण गर्भवती को कब्ज़ की समस्या होने लगती है। पाचन शक्ति कमज़ोर हो जाने से आंतों में भोजन बहुत देर तक रहता है और गैस बनने लगती है।

2. मलाशय में बैक्टीरिया का संतुलन :

कोलन (मलाशय) में बैक्टीरिया के संतुलन में गड़बड़ी होने पर गैस की समस्या होने लगती है।

3. बढ़ता वज़न :

गर्भावस्था में बार-बार भूख लगने के कारण कई महिलाओं की खुराक बढ़ जाती है, जिस कारण उनका वज़न बढ़ने लगता है। वज़न बढ़ने के कारण भी गर्भवती को गैस की समस्या होने लगती है।

4. खाने में लापरवाही :

कुछ खाद्य पदार्थ हैं, जिन्हें खाने से गैस बनती हैं। कुछ महिलाओं को सीलिएक बीमारी (अमूमन साबुत अनाज खाने से होने वाली छोटी आंत की बीमारी) होती है। जिन्हें यह बीमारी होती है, वो ग्लूटोन युक्त खाद्य पदार्थ नहीं पचा पाते और गैस की समस्या होने लगती है । ऐसे ही लैक्टोज़ युक्त चीज़ें खाने से भी कुछ महिलाओं को परेशानी हो सकती हैं, खासतौर पर डेयरी उत्पादों से। इन उत्पादों से भी कभी-कभी गैस की समस्या होने लगती है

 

क्या आप कब्ज से परेशान है तो आयुर्वेदिक मेडिसन आर्डर करने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करे या Call/Whatsapp 7428858589 करे

http://wassmee.us/w/?c=3f0f

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
Loading...