थायराइड के कारण बढ़ रहा है वजन,

थायराइड के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। इन मरीजों में ज्यादातर संख्या महिलाओं की है। थायराइड ग्रंथि मेटाबॉलिज्म को कंट्रोल करती है इसलिए जब यह ग्रंथि सही तरीके से काम नहीं करती है तो वजन बढ़ने लगता है। थायरॉइड की समस्या से जूझ रहे ज्यादातर लोगों की सबसे बड़ी शिकायत यही होती है कि चाहे वे कितनी भी कोशिश क्यों न कर लें, उनका वजन घटता नहीं है।

अगर आप भी इसी श्रेणी में आते हैं तो हम आपको थायराइड की समस्या के साथ वजन कम करने के आसान व असरदार तरीके बता रहे हैं। अगर आप भी थायराइड से ग्रस्त है तो मोटापा कंट्रोल करने के लिए अपना आदतों और खान में कुछ बदलाव करें। इससे ना सिर्फ थायराइड कंट्रोल में रहेगा बल्कि आप सेहतमंद भी रहेंगे।

– थायराइड की समस्या से जूझ रहे हैं तो आपको सफेद चावल की जगह ब्राउन राइस खाए।

– खाने में उबले आलू या शकरकंद को शामिल करें। ये दोनों आपके शरीर को कम कोलेस्ट्रॉल में भी पर्याप्त पोटैशियम देते हैं, जिससे थायराइड में जल्दी आराम मिलता है।

खाने में मछली, अंकुरित दाल, अनाज, दूध और दही, जूस और ड्राईफ्रूट्स को शामिल करें।

– गोभी, सोयाबीन, कैफीन वाले पदार्थ, ग्लूटेन वाले आहार, फास्टफूड और मीठी चीजों से परहेज करें।

– थायराइड में वजन घटाने के आपको खान-पान की आदतों में थोड़ा बदलाव करने की जरूरत है। अपनी डाइट में फलों और पौष्टिक चीजों के साथ सलाद और उबली हुई सब्जियों की मात्रा बढ़ा दें।

– नमक और चीनी का सेवन कम मात्रा में करें।

थायराइड की परेशानी होने पर एल्कोहल का सेवन करने से भी आपका मोटापा बढ़ जाता है। इसके अलावा इससे आपका एनर्जी लेवल कम हो जाता है और रात को नींद न आना, बेचैनी और घबराहट जैसी समस्याएं हो जाती है।

– वजन घटाने के लिए आजक ज्यादातर लोग ग्रीन-टी पीना पसंद करते हैं लेकिन अगर आप थायराइड से ग्रस्त हैं तो ग्रीन टी का सेवन ना करें। थायराइड के रोग में ग्रीन टी का इस्तेमाल कई बार खतरनाक हो जाता है इसलिए इसके इस्तेमाल से पहले अपने चिकित्सक से जरूर सलाह लें।

थायराइड के दौरान मोटापा बढ़ने की एक बड़ी वजह दवा लेने में अनियमितता है। ऐसे में अगर आप इस बीमारी से जूझ रहे हैं तो सबसे पहले अपनी दवा लेने का एक समय निश्चित कर लें, आप दवा लेने में भूल न करें।

– इस बीमारी के कारण बढ़ रहे मोटापे को कम करने के लिए नियमित व्यायाम करें। सप्ताह में कम से कम पांच दिन तीस मिनट रोज व्यायाम या स्विमिंग करने से आपका मोटापा गायब हो जाएगा।

थायराइड ग्रंथि हमारे शरीर के मेटाबॉलिज्म को नियंत्रित करने का काम करती है। जब यह ग्रंथि सही तरीके से काम नहीं करती है तो इसके चलते कई स्वास्थ्‍य समस्याएं हो सकती हैं। हायपरथायराइडिज्म एक ऐसी ही स्थिति है।

इस स्थिति में थायराइड ग्रंथि से अधिक मात्रा में थायराइड का निर्माण होने लगता है। और हायपोथायराइडिज्मि में इसके उलट थायराइड ग्रंथि कम मात्रा में थायराइड का निर्माण करती है। दोनों को अलग-अलग इलाज की जरूरत होती है। हायपरथायराइडिज्म में वजन कम होता है, लेकिन हायपोथायराइडिज्म में वजन काफी बढ़ जाता है। और इस बीमारी में वजन को काबू कर पाना आसान नहीं होता। आइए जानें थायराइडिज्म में वजन कैसे काबू किया जाए।

 

क्या आप थाइरोइड से बढ़ते वजन से परेशान है तो आयुर्वेदिक मेडिसन आर्डर करने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करे या Call/whatsapp 7428858589 करे

http://wassmee.us/w/?c=8fc6

ankit1985

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

थायरॉइड हो सकता है वजन घटने का कारण

Tue Jul 30 , 2019
थायराइड के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। इन मरीजों में ज्यादातर संख्या महिलाओं की है। थायराइड ग्रंथि मेटाबॉलिज्म को कंट्रोल करती है इसलिए जब यह ग्रंथि सही तरीके से काम नहीं करती है तो वजन बढ़ने लगता है। थायरॉइड की समस्या से जूझ रहे ज्यादातर लोगों की […]
Loading...
Loading...