कब्ज भागने के आयुर्वेदिक नुस्खे

आज कब्ज ( Kabj ) से दुनिया भर में बड़ी संख्या में लोग पीड़ित हैं, इसका कारण है कभी भी कुछ भी खा लेना। खाने के बाद बैठे रहना या रात को भोजन के पश्चात बिस्तर पर सो जाना, इन्ही सब वजह से कब्ज पैदा होता हैं। कब्ज ( Kabj ) सभी बीमारियों का मूल कारण है, इसलिए इससे बचना बहुत ही जरुरी है।
वैसे तो यह किसी भी उम्र में हो सकता है लेकिन बढ़ती उम्र में जैसे जैसे शरीर की सक्रियता कम होती जाती है यह व्यक्ति को बुरी तरह से जकड लेती है ।
यहाँ बताए गए कब्ज के आसान से उपायों से आप निःसंदेह ही कब्ज से छुटकारा ( Kabj se Chutkara ) पा सकते हैं
जानिए कब्ज के घरेलू उपाय, (Kabj ke Gharelu Upay) कब्ज से छुटकारा, ( Kabj se Chutkara ) कब्ज का रामबाण इलाज, ( kabj ka ramban ilaj )

कब्ज ( Kabj ) का एक बड़ा कारण शरीर मे पानी की कमी का होना भी है। पानी की कमी से आंतों में मल सूख जाता है और शौच में जोर लगाना पडता है। इसलिए कब्ज के रोगी को दिन मे 4 से 5 लीटर पानी अवश्य ही पीना चाहिये।

20 ग्राम त्रिफला रात को 1/2 लीटर पानी में भिगोकर रख दीजिए। सुबह उठने के बाद शौच जाने से पहले त्रिफला को छानकर उस पानी को पियें और फिर थोड़ा सा टहल भी लें । इससे थोड़ी ही देर में पेट बिलकुल साफ़ हो जाएगा और इस उपाय को लगातार करने से कुछ ही दिनों में कब्‍ज की शिकायत पूरी तरह से दूर हो जाएगी।

रात को सोने से पहले एक चम्‍मच शहद को एक गिलास पानी के साथ मिलाकर नियमित रूप से पीने से कब्‍ज बिलकुल दूर हो जाता है।

सुबह उठने के बाद नींबू के रस को काला नमक मिलाकर गुनगुने पानी के साथ सेवन करने से पेट साफ रहता है।

प्रतिदिन प्रातःकाल बिना कुछ खाए चार पाँच दाने काजू, 5 दाने मनुक्का के साथ खाने से भी कब्ज में अवश्य ही लाभ होता है।

दूध या पानी के साथ रात में सोते वक्‍त इसबगोल की भूसी लेने से भी कब्‍ज शीघ्र ही समाप्‍त होता है।

हर रोज रात में हर्र के बारीक चूर्ण को कुनकुने पानी के साथ लेने से कब्‍ज दूर होता है ।

पका हुआ बेल कब्ज के लिये बहुत ही लाभदायक है। इसे पानी में उबालकर, मसलकर इसका रस निकालकर लगातार 15 दिन तक पियें। कब्ज दूर हो जाएगी ।

किशमिश को पानी में कुछ देर तक भिगो कर रखे, इसके बाद इसे पानी से निकालकर खा लीजिए। नियमित रूप से इसका सेवन करने से जल्द ही कब्ज दूर हो हो जाता है।

प्रतिदिन अमरुद, पपीता, नींबू और अंगूर को अपने आहार में शामिल करें इससे भी कब्ज में बहुत फायदा होता है ।

कब्ज में गरिष्ठ, बासी व बाजार के खुले, तले भुने खाद्य पदार्थों से दूर रहे । चाय, कॉफी, धूम्रपान व नशीली वस्तुओं से भी दूर रहे ।

कब्ज से बचने के लिए सूर्योदय से पूर्व बिस्तर अवश्य ही छोड़ दें। सुबह कुछ देर टहलने, नियमित व्यायाम वा योगासन की अवश्य ही आदत डालें।

अंजीर को रात भर पानी में डालकर भिगो कर रखे , इसके बाद सुबह उठकर इसको खाने से कब्‍ज की शिकायत दूर होती है।

कच्चा पालक खाने या पालक के रस के सेवन से भी कब्ज समाप्त होता है। एक गिलास पालक का रस रोज पीने से पुरानी से पुरानी कब्ज भी मिट जाती है।

रात को सोते समय एक गिलास दूध में 1-2 चम्मच घी मिलाकर पीने से भी कब्ज रोग का समाप्त होता है।

अलसी के बीज के सेवन से भी कब्ज़ में बहुत आराम मिलता है। अलसी के बीज को सुबह नाश्ते में दलिया अथवा कॉर्नफ्लेक्स के साथ मिलाकर खा सकते हैं अथवा 20 – 25 ग्राम अलसी के बीज को सुबह गर्म पानी के साथ खाएं, इससे कब्ज पास तक नहीं फटकती है ।

तांबे के लोटे को रात में 4 गिलास पानी से भरकर उसमें एक चाँदी का टुकड़ा या चाँदी का सिक्का डाल दें| प्रात: शौच जाने से पहले इस पानी को पालथी मारकर पीने से कब्ज दूर होती है, पेट के समस्त रोगो से बचाव होता है | इस उपाय को नियम से करते रहने से बालो का झड़ना रुकता है, बाल असमय सफ़ेद नहीं होते है, आँखों की रौशनी बढ़ती है |

100 ग्राम सौंफ को पीस लें फिर इसमें 20 ग्राम पिसा काला नमक और 10 ग्राम पिसी काली मिर्च मिला लें । इस चूर्ण को नित्य रात में सोने से पहले गुनगुने पानी से लें । इससे पेट ठीक रहता है ,कब्ज बिलकुल भी नही होती है ।

कब्ज को जड़ से मिटाने के लिए नित्य खाली पेट गाजर खाएं या उसका जूस पियें। गाजर के सेवन से पेट साफ रहता है , गाजर आँतो से खुरच खुरच कर मल को निकाल डालती है । गाजर के सेवन से पेट के सभी रोग जैसे गैस, अपच आदि भी दूर होते है।

नित्य रात्रि में सोते समय नाभि में गाय के देशी घी की दो बूंदे लगाकर हल्की मालिश करने से पेट की समस्याएँ दूर होती है, कब्ज में भी आराम मिलता है।

कब्ज की दवा आर्डर करने के लिए निचे दिए लिंक पर क्लिक करे या whatsapp 9711474189 करें

ankit1985

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

धात रोग का घरेलू उपचार

Fri Apr 19 , 2019
आज कब्ज ( Kabj ) से दुनिया भर में बड़ी संख्या में लोग पीड़ित हैं, इसका कारण है कभी भी कुछ भी खा लेना। खाने के बाद बैठे रहना या रात को भोजन के पश्चात बिस्तर पर सो जाना, इन्ही सब वजह से कब्ज पैदा होता हैं। कब्ज ( Kabj […]
Loading...
Loading...