Loading...

गर्मियों में हरी-भरी और कुरकुरी ककड़ी आमतौर पर सलाद का हिस्सा बन जाती है। खीरा प्रजाति की ककड़ी अपने मधुर स्वाद और ठंडी तासीर के कारण गर्मी से राहत भी पहुंचाती है। 90 प्रतिशत जल तत्व, फाइबर, विटामिन, कैल्शियम, आयोडीन, पोटैशियम, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम जैसे खनिज से भरपूर ककड़ी के फायदे बता रही हैं रजनी अरोड़ा

गर्मी करे दूर
ककड़ी के बीजों में गर्मी दूर करने वाले गुण पाए जाते हैं। इनके सेवन से चिड़चिड़ापन, बौखलाहट, गुस्सा आने जैसी मानसिक परेशानियां भी दूर होती हैं। शरीर को कूल रखने के लिए इसके बीज का ठंडाई में इस्तेमाल करना फायदेमंद होता है। ककड़ी का रायता तेज गर्मी या लू की मार से बचाने में सहायक होता है।

रखे हाइड्रेट
ककड़ी में खीरे के मुकाबले पानी ज्यादा होता है। गर्मियों में इसके नियमित सेवन से शरीर में पानी की कमी नहीं हो पाती और डीहाइड्रेशन से बचाव होता है। यह टॉक्सिक या विषैले पदार्थों को शरीर से बाहर निकाल कर उसे डीटॉक्स करने में मदद करती है। आधा-आधा गिलास ककड़ी और टमाटर का रस लेना और बेहतर है। इसमें स्वादानुसार नमक और पिसा जीरा मिलाकर दिन में एक बार पिएं। अधिक प्यास लगने पर आधा कप ककड़ी के रस में थोड़ी-सी चीनी मिलाकर पीना लाभदायक है।

पाचन रखे सही
गर्मी के दिनों में ककड़ी का सेवन पित्त दोष से पैदा होने वाली बीमारियों को दूर करने में सहायक है। इसके नियमित सेवन से पाचन तंत्र को सुचारू रूप से चलाने में मदद मिलती है, जिससे कब्ज, एसिडिटी, सीने में जलन, गेस्ट्रो जैसी पेट संबंधी समस्याएं कम होती हैं। फाइबर की मात्रा अच्छी होने के कारण यह अपच की समस्या दूर करती है।

डायबिटीज पर रखे नियंत्रण
ककड़ी में मौजूद मिनरल्स शरीर में इंसुलिन का स्तर नियंत्रित रखते हैं। इसमें मौजूद स्टेरॉल्स कोलेस्ट्रॉल के बढ़े स्तर को कम करता है।

ब्लड प्रेशर करे नियंत्रित
ककड़ी में मौजूद पोटैशियम ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में सहायक है। रोजाना आधा कप ककड़ी का रस पीना फायदेमंद है।

मोटापा करे कम
फाइबर और पानी से भरपूर ककड़ी वजन कम करने में भी सहायक है। दूसरे स्नैक्स की अपेक्षा ककड़ी का सेवन अधिक देर तक पेट के भरे होने का एहसास कराता है।

आंखों को दे आराम
ठंडी तासीर वाली होने के कारण ककड़ी के कटे टुकड़े आंखों पर रख कर लेटने से आंखों को काफी आराम मिलता है। यह आंखों में जलन, सूजन, थकावट या आंखों के नीचे काले घेरे की समस्या में फायदेमंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
Loading...