कामोत्तेजना को घटाते हैं ‘आंसू’

एक नयी रिसर्च के माध्यम से वैज्ञानिक, महिलाओं पर पुरुषों के आसुओं का प्रभाव जानने में जुटे हुए हैं. महिलाएं भले ही पुरुषों से अपनी बात मनवाने के लिए आसुओं को अपना हथियार मानती हों लेकिन उनका यह हथियार उलटवार भी कर सकता है. इस रिसर्च में लगे वैज्ञानिकों का कहना है कि, महिलाओं के आंसू पुरुषों में सेक्स की इच्छा को कम करते हैं. इसराइल के विज़मान संस्थान के रिसर्चर्स ने पाया है कि महिलाओं के आंसुओं में ऐसे रसायन होते हैं जो पुरुषों के भीतर कामोत्तेजना को कम करते हैं.

 

संस्थान से जुड़े प्रोफेसर नोआम सोबेल ने बीबीसी को बताया कि महिलाओं के आंसुओं का यह रसायन कामोत्तेजना से जुड़े हारमोन ‘टेस्टोसटेरॉन” को कम करता है और उनके मस्तिष्क में सेक्स के प्रति रुचि को भी कम करता है. इस शोध के दौरान अनुसंधानकर्ताओं ने रोने के दौरान महिलाओं के आंसुओं को इकट्ठा किया. इसके बाद पुरुषों को अलग-अलग महिलाओँ की तस्वीरें दिखाई गईं जिस दौरान उन्हें साधारण नमक और महिलाओं के आंसुओं से निकला नमक सुंघाया गया.

 

जिन पुरुषों की नाक के नीचे महिलाओं के आंसुओं से निकला नमक रखा गया था उन्होंने अलग-अलग महिलाओं की तस्वीरें देखकर भी कोई कामोत्तेजक प्रतिक्रिया नहीं दिखाई. इस रिसर्च के दौरान शोधकर्ताओं ने पाया कि, इस प्रक्रिया के दौरान पुरुषों में ‘टेस्टोसटेरॉन” का स्तर 13 फ़ीसदी तक कम हो गया. इस शोध को लेकर सोबेल ने कहा, ”यह अध्ययन इस बात को साबित करता है प्रत्येक मनुष्य दूसरे व्यक्ति को कुछ सिगनल देता है जिसके आधार पर दूसरे व्यक्ति का व्यवहार तय होता है. यह प्रक्रिया जाने-अनजाने में होती है.” हालांकि शोधकर्ताओं को अब भी यह जानना बाकि है कि यह सिगनल किस तरह के होते हैं और किस आधार पर पैदा होते हैं. सोबेल की टीम अब महिलाओं पर पुरुषों के आसुओं का प्रभाव जानने में जुटी है

 

नपुंसकता/शुगर, मोटापे, बवासीर, जोड़ों के दर्द, गंजेपन से छुटकारा पाने की आयुर्वेदिक दवाई प्राप्त करने के लिए WhatsApp 9654801188 करें
🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻फ्री आयुर्वेदिक🌿 उपचार का फ़ेसबुक⬆️ ग्रुप जॉइन करने के लिए लिंक पर क्लिक👍 करें

https://www.facebook.com/groups/2382173305410645/?epa=SEARCH_BOX

 

ankit1985

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

डायबिटीज के लक्षण और बचने के उपाय

Thu Apr 25 , 2019
तेजी से बदलती जीवनशैली, तनाव, डिप्रेशन और चिंता ने तमाम बीमारियों को जन्म दिया है और उन्ही में से एक गंभीर बीमारी है Diabetes जिसे मधुमेह या आम भाषा में शुगर की बीमारी भी कहा जाता है। यह एक ऐसी बीमारी है जो सिर्फ बड़ों को ही नहीं बच्‍चों को […]
Loading...
Loading...