कमल ककड़ी के जाने घरेलु आयुर्वेदिक उपचार

क्या आप जानते हैं कि कमल के तने (जिसे कमल ककड़ी कहते हैं)  इसका सेवन सेहत के लिए बेहद लाभदायक  होता है। कमल ककड़ी से अंचार भी बनता है, जो खाने में खट्टा स्वाद देता है। कई सेहत गुणों से भरपूर होता है  कमल का तना यानी लोटस स्टेम या रूट। भारत में अधिकतर लोग कमल ककड़ी खाना पसंद करते हैं। इसे आप तल कर, भून कर या फिर भाप में पका कर भी खा सकते हैं। कमल ककड़ी पोषक तत्वों का खजाना है। सेहत के लिहाज से यह बहुत फायदेमंद है। जानें, कमल ककड़ी के फायदों  के बारे में…

मर्दाना प्रदर्शन और शक्ति में वृद्धि
मरदाना शक्ति आती है, वीर्य गाढ़ा बनता है💧
धातु रोगों का जड़ से इलाज होगा
सेक्स करने के टाइम पीरियड को बढ़ाये
शीघ्रपतन बंद करने में मदद करे
अधिक से अधिक यौन आत्मविश्वास और नियंत्रण का एहसास
अधिक रोमांचक यौन जीवन का आनंद
शुक्राणुओं की संख्या बढ़ता है
लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन को बढ़ावा देने में मदद करता है
यह आपके हार्मोन के असंतुलन को विनियमित करने के लिए आपकी मदद करता है
इससे सेक्स की इच्छा बढ़ जाती है.
चिकित्सक स्वीकृत और अनुशासित
बिना कोई दुष्प्रभाव के साथ सुरक्षित आयुर्वेदिक

डॉ नुस्खें वीर्य Shakti power kit ऑर्डर करने के लिए लिंक पर क्लिक करें या Whatsapp करे 9717393140
https://waapp.me/wa/qWhNJFoT

धातु रोग, मर्दाना कमजोरी, देर तक नहीं टिकना 1 मिंट में निकल जाने की समस्या, शुक्राणु के पतलेपन की आयुर्वेदिक उपचार डॉ नुस्खे हॉर्स पावर किट ऑर्डर करने के लिए लिंक पर क्लिक करें

लिवर को रखे हेल्दी- लोटस स्टेम में मौजूद एक कसैला पदार्थ टैनिन होता है, जो लीवर की रक्षा करता है। एक अध्ययन के अनुसार, कमल ककड़ी में मौजूद कंडेनस टैनिन लिवर से जुड़ी हिपेटोमिगेली और अल्कोहल फैटी लीवर जैसी समस्याओं से राहत दिलाता है।

एंटी-ऑक्सिडेंट्स से भरपूर- कमल ककड़ी में एंटीऑक्सीडेंट भी काफी मात्रा में होता है, जो कैंसर और फ्री-रैडिकल्स से होने वाले नुकसानों से हमें बचाता है। डायट में इसे किसी ना किसी रूप में जरूर शामिल करें। कमल की जड़ें खाने से शरीर में एंटीऑक्सीडेंट की कमी को पूरा करने में मदद मिलती है।

डॉ  नुस्खे इम्यून पॉवर किट ऑर्डर करने के लिए पर क्लिक करे Whatsapp 9717393140

बुखार करे कम- एक शोध में कहा गया है कि यदि आपको बुखार है, तो आप पैरासिटामोल की बजाय कमल ककड़ी खाएं। इसमें बुखार को कम करने वाले गुण मौजूद होते हैं, जो बुखार की दवा के रूप में काम करते हैं। इससे शरीर को ठंडक मिलती है, इसलिए बुखार में जब शरीर का तापमान अधिक हो, तो इसका सूप बनाकर पीड़ित को पिलाएं।

सूजन करे कम- सूजन शरीर में कई तरीकों से उभरता है, जैसे कि मांसपेशियों में दर्द, जोड़ों में दर्द या रैशेज। इन सभी तकलीफों की जड़ों तक पहुंचने के लिए कमल ककड़ी को अपने भोजन में शामिल करें।

डॉ नुस्खें time power kit ऑर्डर करने के लिए लिंक पर क्लिक करें

https://waapp.me/wa/JwJLWSyj

ब्लड शुगर करे कंट्रोल- एक शोध में यह बात साबित हुई है कि कमल ककड़ी में इथेनॉल का अर्क मौजूद होता है, जो ब्लड शुगर के स्तर को कम कर सकता है। यह ग्लूकोज टॉलरेंस में सुधार करता है।

डायरिया में खाएं कमल ककड़ी- यदि आपको दस्त की समस्या हो रही है, तो कमल की जड़ें उबालकर उस पानी को पिएं। एक स्टडी में इस बात की पुष्टि हुई है कि लोटस रूट में एंटीडायरियल गुण मौजूद होते हैं।

डॉ नुस्खें men power ऑर्डर करने के लिए लिंक पर क्लिक करें या Whatsapp करे 9717393140
https://waapp.me/wa/qYaUcDiN

बिस्तर का राजा बनने के लिए ईस्तेमाल करें Dr Nuskhe Night Show Kit

डॉ नुस्खे काम देव चूर्ण ऑर्डर करने के लिए पर क्लिक करें

https://waapp.me/wa/woZfsapa

 

ankit1985

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

यूरिक एसिड से पाए छुटकारा जाने घरेलु आयुर्वेदिक उपचार

Tue Jul 14 , 2020
क्या आप जानते हैं कि कमल के तने (जिसे कमल ककड़ी कहते हैं)  इसका सेवन सेहत के लिए बेहद लाभदायक  होता है। कमल ककड़ी से अंचार भी बनता है, जो खाने में खट्टा स्वाद देता है। कई सेहत गुणों से भरपूर होता है  कमल का तना यानी लोटस स्टेम या […]
Loading...
Loading...