Loading...

श्वेत प्रदर को बीमारी न बनने दें। इसका घर पर ही इलाज किया जा सकता है। अगर आपको भी यह समस्या है, तो असरदार साबित होंगे ये हर्बल उपचार…

श्वेत प्रदर को बीमारी न बनने दें। इसका घर पर ही इलाज किया जा सकता है। अगर आपको भी यह समस्या है, तो असरदार साबित होंगे ये हर्बल उपचार…

आंवले का किसी न किसी न रूप में सेवन करें। यह वेजाइना के बैक्टीरिया को खत्म करता है।
बरगद के पेड़ की छाल का रस एंटीसेप्टिक होता है। ल्यूकोरिया की समस्या होने से पानी में बरगद की छाल उबाल लें। ठंडा होने पर इस पानी से वेजाइना धोएं।

आम का पल्प कुछ दिनों तक वेजाइना में अंदर लगाएं। इससे खुजली और गंध दोनों से छुटकारा मिल जाएगा। आधे घंटे बाद पानी से धो डालें।

एलोवेरा का जूस पीएं। इसका जैल भी लगा सकती हैं। इससे वेजाइना से गंध आने की समस्या दूर हो जाती है।

सुबह एलोवेरा का जूस पीजिये और इसके जैल को अपनी योनि पर संक्रमण रोकने के लिये लगाइये भी।

अखरोट की पत्तियों को उबाल लें। गुनगुना पानी हो जाने पर वेजाइना धो लें। इससे ल्यूकोरिया की समस्या दूर होगी।
अंजीर भी श्वेत प्रदर की समस्या दूर करने में कारगर है। एक कटोरे में पानी के साथ में सूखी अंजीर भिगो दें। फिर सुबह इसे हल्के गुनगुने पानी के साथ पीस कर खाली पेट पी लें। इससे बैक्टीरिया का नाश होता है।

केला खाने की आदत डाल लें। रोजाना एक केला खाने से श्वेत प्रदर से मुक्ति मिलती है।

चौलाई की जड़ों को काम में लें। चौलाई की जड़ों को पहले मिक्सी में पीस लें और फिर पानी में 15 मिनट तक उबाल कर काढ़ा बनाएं। इसमें एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो कि वेजाइना के संक्रमण को दूर कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
Loading...