से*स टाइम बढ़ाने के प्राकृतिक तरीके

 

सेक्स करने के समय को कैसे बढ़ाएं? सेक्स स्टेमिना को कैसे बढ़ाएं? और सेक्सुअल पॉवर को कैसे बढ़ाएं आदि कुछ साधारण सवाल होते हैं जो कि हर एक व्यक्ति के मन में होते हैं। सेक्स करना यानि की यौन संबंध बनाना एक स्वाभाविक प्रक्रिया होती है। शादीशुदा जीवन की खुशहाली के लिए एक बेहतर सेक्स लाइफ का होना भी काफी जरुरी होता है। सेक्स पावर और सेक्स टाइम के कम होने, इरेक्शन ना होने, तनाव में आने, घबरा जाने और इरेक्टाइल डिसफंक्शन जैसी कई समस्याएं होने के कारण भी सेक्स लाइफ खराब हो जाती है जिसका सीधा असर आपके और आपके पार्टनर की खुशियों पर पड़ता है।

सेक्सुअल स्टेमिना बढ़ाने के लिए लोग दवाओं का भी इस्तेमाल करते हैं। सेक्स टाइम को दवाओं की मदद से बढ़ाया जा सकता है लेकिन इसके दुष्प्रभाव भी लंबे समय तक होते हैं। सेक्स टाइम को प्राकृतिक रुप से बढ़ाने के लिए आप कुछ प्राकृतिक टिप्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस आर्टिकल में हम विस्तार से आपको कुछ उपयोगी टिप्स के बारे में बताने जा रहे हैं जो कि सेक्स टाइम को प्राकृतिक रुप से बढ़ाने के लिए लाभकारी होते हैं। आइए जानते हैं सेक्स टाइम को प्राकृतिक रुप से बढ़ाने के लिए आवश्यक टिप्स।

 

टाइम को बढ़ाने के लिए प्राकृतिक उपाय

सेक्स के दौरान अपने पार्टनर की अपेक्षा जल्दी से क्लाइमेक्स पर पहुँच जाना एक बहुत कॉमन बात है, तो इसकी वजह से खुद को कम न आँकें। खुशकिस्मती से, ऐसे वो सारे लोग, जो इस तरह से जल्दी क्लाइमेक्स पर पहुँच जाते हैं, वो बेड पर ज्यादा वक़्त तक ठहरे रहना सीख सकते हैं। एक्सर्साइजेज़ और लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव लाने से, इसके ऊपर कंट्रोल पाने में मदद मिल सकती है और लंबे समय तक टिके रहने के लिए ऐसी बहुत सारी टेक्निक्स मौजूद हैं, जिन्हें आप सेक्स के दौरान यूज कर सकते हैं। क्लाइमेक्स को कंट्रोल करने वाले प्रोडक्ट्स और दवाइयों को भी इस्तेमाल करके देखा जा सकता है। अगर आपका पार्टनर बहुत जल्दी रुक जाता है, तो उसके साथ मिलकर, एक टीम की तरह, इस टॉपिक के ऊपर बात करें। उसके ऊपर सारा दोष मढ़ने से बचें और उसे ये मालूम होने दें, कि आप उसके साथ मिलकर फिजिकल और इमोशनल इंटिमेसी को सुधारने के ऊपर काम करना चाहते हैं।

 

 

रिलेक्स रहें और खुद को प्रोत्साहित करें: चिंता और अपने ऊपर भरोसे की कमी, मूड को बरबाद करने की सबसे बड़ी वजह होती हैं, तो इसलिए आशावादी नजरिया अपनाने की कोशिश करें। सेक्स की तरफ कोन्फ़िडेंस, सेल्फ रिस्पेक्ट और पॉज़िटिव एटिट्यूट के साथ अप्रोच करना, आप दोनों ही पार्टनर के बीच में एक काफी बड़ा बदलाव ला सकता है।

  • अपने परफ़ोर्मेंस से जुड़े हुए नेगेटिव विचारों के ऊपर घर बनाकर रहने के बजाय, अपने आप में ऐसा सोचें, “जॉन, जल्दी रुक जाना एक बहुत कॉमन सी चीज़ है। तुम इससे निपट सकते हो!”
  • पॉज़िटिव सेल्फ-टॉक करते वक़्त, अपने आप को इस तरह से अपने नाम से पुकारना काफी असरदार साबित हो सकता है।

 

 

मास्टरबेशन के दौरान लंबे वक़्त तक टिके रहें: मास्टरबेशन के दौरान जल्दी से जल्दी क्लाइमेक्स पर पहुँचने की कोशिश करना भी आपके शरीर को जल्दी से रुकने या सबकुछ जल्दी खत्म करने की आदत डाल देता है। हफ्ते में कुछ बार और सेक्स के कुछ घंटे पहले मास्टरबेशन करना, क्लाइमेक्स को कुछ वक़्त तक आगे बढ़ाने में मदद कर सकता है, खासकर कि अगर आप मास्टरबेट करते वक़्त लंबे वक़्त तक बने रहने की प्रैक्टिस करते आ रहे हों।

 

 

पेल्विक फ्लोर (pelvic floor) एक्सर्साइज़ करना शुरू करें: शीघ्रपतन (ejaculation) को कंट्रोल करने वाली मसल्स की एक्सर्साइज़ करना, आपको लंबे वक़्त तक टिकाए रखने में मदद करेगा। इन मसल्स की पहचान करने के लिए, यूरिन करते वक़्त बीच में रुक जाएँ और उन मसल्स को टाइट कर लें, जो गैस को पास होने से रोकती हैं। इनकी एक्सर्साइज़ करने के लिए, इन्हें 3 सेकंड्स के लिए टाइट करके रखने की कोशिश करें, 3 सेकंड्स के लिए रिलेक्स करें, फिर इसे 5 से 10 बार दोहराएँ।

  • इन एक्सर्साइजेज़ को शुरुआत में लेटकर या बैठकर करना आसान लगेगा, लेकिन इन्हें खड़े होकर भी करने की कोशिश करें। जब आप मसल्स को स्ट्रेंथ दे रहे हों, रोजाना 10 रिपीटीशन के 3 सेट्स करने का लक्ष्य बनाएँ।
  • सिर्फ उन्हीं मसल्स को टाइट करने की कोशिश करें, जो यूरिन करने के ऊपर और गैस पास करने के ऊपर कंट्रोल करती हों। आपको सिर्फ अपने बटक्स (buttocks) या थाईस की एक्सर्साइज़ ही नहीं करते रहना है।
  • एक्सर्साइज़ करते वक़्त नॉर्मल तरीके से साँस लें और अपनी साँसों को रोककर रखने से बचें।

 

अल्कोहल या और दूसरे ड्रग्स को लेना कम करें: अल्कोहल और इसी तरह के दूसरे सब्सटेन्स प्रीमेच्योर इजेक्यूलेशन (शीघ्रपतन), इरेक्टाइल डायफंक्शन (erectile dysfunction) और परफ़ोर्मेंस से जुड़ी दूसरी प्रॉब्लम्स को खड़ा कर देती हैं। सेक्स से पहले ड्रग्स और अल्कोहल को लेना अवॉइड करें और इनके इस्तेमाल के ऊपर रोक या कमी करने की कोशिश करें।

 

 

पहले अपने पार्टनर को एक्साइटेड करने की कोशिश करें: खुद को एक्साइटेड किए बिना, अपने पार्टनर को कुछ अटेन्शन दें या उन्हें आपके सेंसिटिव पार्ट्स को छूने दें। इस तरह से वो आपके एक्साइटमेंट के लेवल से मेल खा सकेंगे और दोनों एक ही वक़्त पर क्लाइमेक्स तक पहुँच सकेंगे।

 

 

धीमे मूवमेंट्स यूज करें: अपना वक़्त लेकर आगे बढ्ने से आपको देर तक टिके रहने में मदद मिलेगी, इसलिए डेस्टिनेशन तक पहुँचने की कोशिश की बजाय, अपनी जर्नी को अहमियत देने की कोशिश करें। सेक्स को एक जल्दबाज़ी में खत्म किए जाने वाला काम समझने के बजाय, इसे एक सेन्सुअल डांस की तरह समझने की कोशिश करें।

 

 

नई पोजीशन्स अपनाकर देखें: पोजीशन बदलना, आपको उस मौजूदा स्थिति के ऊपर फिर से फोकस करने में मदद कर सकता है और आपके एक्साइटमेंट लेवल को रीसेट कर सकता है। इसके साथ ही नई पोजीशन्स को इस्तेमाल करने से आपके शरीर को इसके नॉर्मल रूटीन से हटके कुछ करने में मदद मिलेगी।

  • इसके अलावा, अगर ऐसी कोई एक पोजीशन है, जो हमेशा आपके लिए कमाल का काम करती है, तो उसे आखिर के लिए बचाए रखें।

 

जब आपको क्लाइमेक्स आता नजर आए, तब धीमी, गहरी साँसें लें: क्लाइमेक्स को भांपते ही अपनी साँसों को धीमा करने की वजह से ओर्गेज़्म रिफ़्लेक्स रुक जाता है। हल्की, धीमी साँसें लें और साँस लेते वक़्त अपने पेट को बढ़ाएँ। अपनी साँसों को 2 या 3 सेकंड्स के लिए रोककर रखें, फिर धीरे-धीरे साँसों को छोड़ें।

  • जब तक कि आपको क्लाइमेक्स जाता हुआ नजर न आ जाए, तब तक इस तरह से धीमी साँसें लेना जारी रखें।

 

एक पल के लिए किसी और चीज़ के बारे में सोचें: जब आप करीब जाते हुए नजर आएँ, तो उस वक़्त पर कुछ ऐसी चीज़ के बारे में सोचकर खुद को डिस्ट्रेक्ट करने की कोशिश करें, जो नॉन-सेक्सुयल हों, जैसे कि आपका काम, एक टीवी शो, या स्कूल। अपने ध्यान को कुछ वक़्त के लिए भटकाने से आपको धीमा पड़ने में और रिलेक्स होने में मदद मिल सकती है।

  • अपना सारा वक़्त बस किसी और चीज़ के बारे में सोचते हुए ही न बिता दें। आपको अभी भी उस पल में शामिल रहना है और आपके पार्टनर को खुश करने की कोशिश भी करना है।

 

 

ब्रेक्स लेने की कोशिश करें: इस स्टॉप एंड स्टार्ट मेथड में, जब आप आखिरी पल आता महसूस करते हैं, उस वक़्त जरा सी देर के लिए अपने पार्टनर से दूर जाना शामिल है। लगभग 30 सेकंड्स का एक ब्रेक लें, फिर दोबारा सेक्स करना शुरू कर दें। इस स्टॉप एंड स्टार्ट टेक्निक को उस वक़्त तक रिपीट करते रहें, जब तक कि आप और आपका पार्टनर, दोनों ही क्लाइमेक्स तक पहुँचने को तैयार न हो जाएँ|

  • आप ब्रेक के दौरान गहरी साँसें ले सकते हैं या फिर किसी और चीज़ के बारे में भी सोच सकते हैं।

 


अगर आपका भी सम्भोग समय बहोत कम है तो आप आज ही कुछ आयुर्वेदिक दवाओं या औषधियों का सेवन करके उसे सही करें 

घर बैठे आयुर्वेदिक औषधि व उपचार पाने के लिए निचे दिए गए नंबर पर whatsapp या call करे  7827204210

http://wassmee.us/w/?c=fa98

ankit1985

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

संतोषी माता की कहानी

Fri Jul 26 , 2019
  सेक्स करने के समय को कैसे बढ़ाएं? सेक्स स्टेमिना को कैसे बढ़ाएं? और सेक्सुअल पॉवर को कैसे बढ़ाएं आदि कुछ साधारण सवाल होते हैं जो कि हर एक व्यक्ति के मन में होते हैं। सेक्स करना यानि की यौन संबंध बनाना एक स्वाभाविक प्रक्रिया होती है। शादीशुदा जीवन की […]
Loading...
Loading...