Loading...

नींद न आने की बिमारी धीरे-धीरे सामान्य होती जा रही है. स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से हमारे शरीर को तरोताजा और स्वस्थ फोटो बनाए रखने के लिए नींद का आना बेहद जरूरी होता है. इसलिए अनिद्रा की समस्या काफी गंभीर है. अनिद्रा से हमें थकान, टेंशन, सरदर्द, डिप्रेशन, आदि समस्याओं का सामना करना पड़ता है. अनिद्रा की बीमारी को आमतौर पर दो भागों में बांटा जाता है – एक्यूट और क्रोनिक. थोड़े समय के लिए होने वाली अनिद्रा को एक्यूट जबकि लंबे समय तक या सालों तक चलने वाली अनिद्रा को हम क्रोनिक के अंतर्गत रखते हैं.

                            आइए इस लेख के माध्यम से हम नींद न आने के घरेलु उपायों पर प्रकाश डालें.

कैमोमाइल टी का उपयोग प्राचीन काल से ही नींद को बेहतर बनाने की औषधि के रूप में किया जाता रहा है. आज होने वाले कई शोधों में यह देखा गया है कि इसमें मौजूद एपीजे नींद नामक योग्य इसके लिए जिम्मेदार है. इसलिए जब भी आपको अनिद्रा महसूस हो या ऐसा लगे कि नींद नहीं आ रही है. आपके मोबाइल का सेवन करें इसका स्वाद बनाने के लिए आप इसमें दालचीनी और शहद भी मिला सकते हैं.

एप्पल साइडर विनेगर और शहद हमारे शरीर में मौजूद फैटी एसिड्स को तोड़कर नियासिन में परिवर्तित करने का काम करते हैं. इससे अनिद्रा की बीमारी को दूर करने में काफी लाभ मिलता है. इसके अलावा शहद इंसुलिन और से सेरोटोनिन के स्राव को बढ़ाकर नींद लाने में फायदा पहुंचाता है. यदि आप दो-दो चम्मच ऑर्गेनिक एप्पल साइडर विनेगर और शहद को एक गिलास गर्म पानी में मिश्रित करके सोने से पहले पिएं तो काफी लाभ मिलेगा. आप चाहे तो दो चम्मच एप्पल साइडर विनेगर को एक कप शहद में मिलाकर टॉनिक के रूप में भी रोज एक चम्मच ले सकते हैं.

जीरा हमारे पाचन शक्ति को बढ़ाने में काफी लाभदायक होता है. इसके अलावा यह नींद को भी ठीक करने का काम करता है. हमारे यहां प्राचीन काल से ही आयुर्वेद में नींद को बढ़ाने वाले औषधियों में जीरा का उल्लेख मिलता है. इसके लिए आप जीरा के चाय का सेवन कर सकते हैं या फिर केले को मसल कर उसमें एक चम्मच जीरा पाउडर मिलाकर रोज रात को सोने से पहले इसका सेवन करें. इससे आपको काफी लाभ मिलेगा.

केसर का सेवन हमारे लिए शांतिदायक गुणों में वृद्धि करने वाला होता है. यदि आप नींद के लिए इसका इस्तेमाल करना चाहते हैं तो केसर की दो लड़कों को एक कप गर्म दूध में मिलाकर रात में सोने से पहले इसका सेवन करें. ऐसा करने से आपको अनिद्रा की समस्या दूर करने में मदद मिलेगा.

अनिद्रा की समस्या में सबसे जरूरी होता है कि आपके दिमाग और शरीर को आराम मिले. दूध इस काम को बहुत अच्छे से कर सकता है. क्योंकि इसमें नियासिन एमिनो एसिड पाया जाता है जो कि नींद को बढ़ावा देता है. इसके बेहतर उपयोग के लिए आप एक कप गर्म दूध में एक चौथाई चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर सोने की 1 घंटे पहले इसे पी लें.

जायफल का उपयोग हम प्राकृतिक निद्रा को बढ़ावा देने के लिए करते हैं. जाहीर इसमें शामक गुण होते हैं. एक चौथाई चम्मच जायफल के पाउडर को एक कप गर्म दूध में मिलाकर इसे सोने से पहले लें या फिर एक चौथाई चम्मच जायफल के पाउडर को एक कप गर्म पानी में मिलाकर भी ले सकते हैं. इसके अतिरिक्त एक चुटकी जायफल के पाउडर को एक चम्मच आवला में मिलाकर दिन में तीन बार लेने से भी अनिद्रा और बदहजमी में लाभ मिलता है.

सोने से दो-तीन घंटे पहले हॉट बात लेने से भी अच्छी नींद आती है. इससे शरीर और तंत्रिका तंत्र को भी आराम मिलता है. यदि आप इसे और कार्य करना चाहते हैं तो पानी में कुछ बूंदें रामरस कैमोमाइल आयल लैवेंडर आयल आदि मिला दें.
नींद नहीं आने के आयुर्वेदिक उपाय पाने के लिए लिंक पर क्लिक करे 

https://qopi.me/d6e0cb

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
Loading...