जायफल से बीमारिया होगी जड़ से समाप्त और नपुंसकता की बीमारी होगी दूर

अगर हर रोज रात में गर्म दूध में जायफल पाउडर डाल कर पीते हैं तो अच्‍छी नींद आएगी। नींद ना आने की समस्या से परेशान लोगों के लिए ये एक अच्छा उपाय है।

इसमे बहुत सारा मिनरल, पोटैशियम, कैल्‍शियम, आयरन और मैग्नीशियम पाया जाता है। जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

चेहरे की झुर्रियां हटाने के लिए थोड़ा सा जायफल पाउडर पानी या शहद के साथ मिला कर पेस्‍ट बनाए और चेहरे पर लगाए तो चेहरा साफ हो जाता है। इससे मुंहासों के दाग भी साफ होते हैं।

सदियों से जायफल का इस्‍तेमाल पाचन तंत्र को ठीक करने के लिये किया जाता रहा है। अपने रोज के खाने में शामिल करेंगे तो पाचन आसान हो जाएगा।

जायफल को घिस कर दूध में मिलाएं और हफ्ते में तीन दिन पीएं। इससे नपुंसकता की बीमारी दूर होगी। यौन शक्ति बढ़ाने के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है।

दांत दर्द में जायफल का तेल बहुत लाभकारी है, तभी तो आपने देखा होगा कि ज्‍यादातर टूथपेस्‍ट में दालचीनी और जायफल मिलाया जाता है।

दिमाग को भी बहुत तेज बनाता है। इसको खाने से कभी एल्‍जाइमर यानी  भूलने की बीमारी नहीं होगी।

पेट में दर्द हो तो जायफल के तेल की 2-3 बूंद चीनी में मिलाकर खाने से तुरंत आराम होता है।

सेक्स पावर बढ़ाने की और बीवी के साथ देर तक टिकने की आयुर्वेदिक उपचार किट आर्डर करने के लिए क्लिक करें

गठिया के लक्षण
इस रोग में घुटनों व शरीर के दूसरे जोड़ों में दर्द शुरू हो जाता है जिसमें यदि असावधानी बरतें तो यह आगे चलकर उंगलियों व जोड़ों में सूजन और लाल रंग का घाव उत्पन्न कर देता है। इतना ही नहीं, अनदेखी करने पर इससे हाथ-पैर टेढ़े हो जाते हैं। इस बीमारी में हाथ व पैर को हिलाना भी मुश्किल हो जाता है।

घर बैठे पाए गठिया और जोड़ो के दर्द से जड़ से समाप्त डॉ नुस्खे वतारी चूर्ण ऑडर करने के लिए निचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करे Whatsapp 919654801188

https://chatwith.io/s/5f2931cb742bb

आयुर्वेदिक चिकित्सा
अच्युत त्रिपाठी बताते हैं, ‘गठिया के उपचार में जितनी जरूरी इसकी चिकित्सा है, उतने ही जरूरी परहेज भी हैं। रोगी के लिए विशेष प्रकार के व्यायाम कराए जाते हैं और सप्ताह में एक से दो बार सोने के पहले 25 मिलीलीटर एरंड के तेल का दूध के साथ सेवन कराते हैं। इसके अलावा लक्षणों व रोग की गंभीरता के आधार पर उपचार किया जाता है।’

Order now Dr. Nuskhe Ashwagandha WhatsApp 9654801188

ये सावधानियां जरूरी
इस बीमारी में रोगी को ठंड से पूरी तरह बचना होगा। नहाने के दौरान गर्म पानी का इस्तेमाल करें और सूजन वाले स्थान पर बालू की थैली या गर्म पानी के पैड से सेंकाई करें। रोगी को अपनी शक्ति के अनुसार हल्का व्यायाम जरूर करना चाहिए।

कैसी हो डाइट
गठिया के मरीजों के लिए डाइट पर ध्यान देना बहुत जरूरी है। अधिक तेल व मिर्च वाले भोजन से परहेज रखें और डाइट में प्रोटीन की अधिकता वाली चीजें न लें। भोजन में बथुआ, मेथी, सरसों का साग, पालक, हरी सब्जियों, मूंग, मसूर, परवल, तोरई, लौकी, अंगूर, अनार, पपीता, आदि का सेवन फायदेमंद है। इसके अलावा, नियमित रूप से लहसुन व अदरक आदि का सेवन भी इसके उपचार में फायदेमंद है।

आजकल ज्यादा पोर्न फिल्म देखने तथा बचपन की गलत हरकतों से वीर्य पतला हो जाता है । तथा सम्भोग करने की क्षमता भी कम हो जाती है । अंदर जाते ही निकल जाना और उसका असंतुष्ट रह जाना और संबंधों में गिरावट का समाधान आयुर्वेदिक किट  Dr. Nuskhe Azoospermia Kit आर्डर करने के लिए क्लिक करें  https://waapp.me/wa/4d72gdM1

अगर आप भी मोटापे से छुटकारा पाना चाहते है और thyroid से परेशान तो आज ही नीचे दिए लिंक को क्लिक करें और पायें आकर्षक फिगर ✍✍
मोटापे को जड़ से खत्म करने की आयुर्वेदिक🌱👍 उपचार किट ऑर्डर करने के लिए क्लिक✍ करें  https://waapp.me/wa/J58rBX2Y

हस्तमैथुन की वजह से आयी कमजोरी की आयुर्वेदिक औषधि घर बैठे मंगवाने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और हमारे एक्सपर्ट्स से बात कीजिये और दवा घर बैठे प्राप्त कीजिये https://waapp.me/wa/4d72gdM1

 

 

ankit1985

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

ग्रीन टी प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए कैसे हानिकारक अधिक जानकारी पूरा पढ़े

Wed Aug 5 , 2020
अगर हर रोज रात में गर्म दूध में जायफल पाउडर डाल कर पीते हैं तो अच्‍छी नींद आएगी। नींद ना आने की समस्या से परेशान लोगों के लिए ये एक अच्छा उपाय है। इसमे बहुत सारा मिनरल, पोटैशियम, कैल्‍शियम, आयरन और मैग्नीशियम पाया जाता है। जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को […]
Loading...
Loading...