Loading...

15 दिनों में बालो से जुडी समस्याओं का समाधान आयुर्वेद के साथ

आज हमारे चर्चा का विषय बड़ी तीव्र गति से बालों में बढ़ रही समस्याओं के ऊपर है। जैसा की आप सभी को ज्ञात है। कि अभी के समय में असमय सफेद बाल होना बाल की लंबाई ना बढ़ना वालों का कमजोर होना बालों का झड़ना इत्यदि समस्याएं बहुत बढ़ती जा रही है। बालो की समस्या महिला एवं पुरुष दोनों में बढ़ती जा रही है। आज हम इस बात पर पर विस्तार से चर्चा करेंगे कि अपने बालों की सुंदरता को बरकरार रखने के लिए हमें क्या-क्या करना चाहिए। आजकल के समय में हर कोई अपना बाल काला लंबा घना रखना चाहता है। क्योंकि बाल हमारे सुंदरता को निखारने में हमारी मदद करते हैं। (15 दिनों में बालो से जुडी समस्याओं का समाधान आयुर्वेद के साथ)

धूम्रपान से मुक्ति धूम्रपान की वजह से फेफड़े में जमा हो रहे गंदगी को साफ़ करे

असमय बाल से गिरने और टूटने बालों के सफेद होना हमारी जीवनशैली को बदरंग और परेशानी में डाल देते हैं। बालों में इस तरह की समस्याएं हमेशा हमारे खान पान के साथ साथ ही शुरू होता है। हमारे आस पास बढ़ रहे प्रदूषण तथा खानपान की अनियमितता लगातार हो रहे पर्यावरण में प्रदूषण का प्रभाव इन सभी कारणों सेअसमय हमारे बाल सफेद और झड़ने लगते हैं। यदि हमारे रोजमर्रा के जीवन में हमारे 10 से 12 बाल टूटते झड़ते हैं। तो यह एक आम बात होती है। लेकिन यदि हमारे बाल ज्यादा टूटने लगे। तो यह एक गंभीर समस्या बन जाती है। आज मैं आप सभी को बताने वाला हूं। कि कौन से तत्व है। प्रोटीन है। हार्मोन से जिनके कमी के कारण हमारे बाल असमय सफेद होने लगते हैं। (15 दिनों में बालो से जुडी समस्याओं का समाधान आयुर्वेद के साथ)

Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार

हम जानते हैं कि हमारे शरीर में हार्मोन पाया जाता है। जो हमारे खून के साथ मिला हुआ रहता है। जिसे हम मिलेनिन पिगमेंटेशन कहते हैं। यदि हमारे शरीर के अंदर मिलेनिन पिगमेंटेशन की कमी हो जाए तो हमारे बाल असमय सफेद होने लगते हैं। यह ना केवल हमारे बाल के सफेद होने का  कारण है। इस कमी के कारन हमारे बाल असमय झड़ने भी शुरू हो जाते हैं। जैसा कि हम सभी जानते हैं। आजकल के समय में बालों का सफेद होना एक आम बात सी हो गई है। छोटी से छोटी और बड़े से बड़े उम्र वालों लोगो को एक समान बालों की सफेदी की गंभीर समस्या बनी रहती है। (15 दिनों में बालो से जुडी समस्याओं का समाधान आयुर्वेद के साथ)

हमारे शरीर के अंदर यदि हारमोंस का बैलेंस नहीं है। तो हमारे बाल असमय सफेद और झड़ने लगते हैं। अतः हमें अपने बाल के झड़ने को रोकने के लिए शरीर के अंदर हारमोंस का संतुलन बनाए रखना अतिआवश्यक है। हारमोंस के संतुलन बनाए रखने के साथ-साथ हमारे अपने दैनिक भोजन पर भी खास ध्यान देना अतिआवश्यक है। यदि हमारे रोजमर्रा के खाने में हमें जरुरी तत्व और प्रोटीन नहीं  प्राप्त हो पा रहे हैं। यह भी एक मुख्य कारण हमारे बालों का झड़ना या बालों का असमय सफेद होने का हो सकता है। साथ में आप सभी को यह बात बताना चाहूंगा। कि यदि कोई व्यक्ति ज्यादा तनावपूर्ण जिंदगी जी रहा हो। तो उसके जीवन में भी बाल झड़ने की मुख्य कारण तनाव हो सकता है।

 

High blood pressure और Low blood pressure के लक्षण संकेत और उपचार

एक तनावपूर्ण जिंदगी जीने वाले व्यक्ति के बालों की समस्या सबसे तीव्र गति से प्रभावित करती है। यदि कोई व्यक्ति अधिक मात्रा में धूम्रपान करता है। तो उसके भी बालों की समस्या हो सकती है। ज्यादातर अभी के समय में देखा जाता है कि  एलोपैथिक दवाओं का सेवन ज्यादा मात्रा में करते हैं। जिसके कारण शरीर के अंदर भारी मात्रा में साइडइफेक्ट उत्पन्न होने लगता है। इस कारण से भी एक आम इंसान के जीवन में बालों की समस्याएं उत्पन्न होने लगती है। आजकल बाजार में मिल रहे अलग अलग तरह के हेयर प्रोडक्ट का इस्तेमाल भी हमारे बालों को प्रभावित कर सकता है। (15 दिनों में बालो से जुडी समस्याओं का समाधान आयुर्वेद के साथ)

Piles अर्थात बवासीर के शुरुवाती संकेत लक्षण और उपचार

यदि शरीर के अंदर खून की कमी हो रही है। तो इस कारण से भी हमारे बालों पर बुरा प्रभाव पड़ने लगता है। महिलाओं में यह समस्या ज्यादा थायराइड के समय देखा जाता है। यदि कोई महिला थायराइड जैसी गंभीर बीमारियों से झूझ रही है तो उनके बाल  सफेद और झड़ने लगते हैं। थायराइड जैसी बीमारी से जूझ रहे रोगी को बालों की समस्या ज्यादा प्रभावित करती है। जैसा कि आप सभी जानते हैं कि हमारे सर में लगभग 2 लाख से ज्यादा बालों के छिद्र पाई जाती हैं। और हमारे सर से रोजाना 15 से 20 बाल गिरना आम बात होती है।

आंवला के गुण और आंवला के उपयोग से रोगों का उपचार

यदि हमारे सर से प्रतिदिन 15 से 20 बाल गिरते हैं। तो यह एक आम बात होती है। किसी न किसी रुप से गंभीर नहीं ले सकते हैं। लेकिन वहीं अगर यह समस्या बालो के साथ जयादा मात्रा में हो रही है तो इसे हमें गंभीरता पूर्व लेना अतिआवश्यक है। आजकल के समय में  डॉक्टरी सलाह लेने पर यह पता चलता है कि बालों की समस्या को दूर करने के लिए हमें बालों का देखभाल करना अतिआवश्यक है। बालों की देखभाल के साथ-साथ हमें अपने खाने-पीने के ध्यान रखना अतिआवश्यक है। जैसे खाने में हमें विशेष पूर्वक विटामिन मिनरल्स और फोलिक एसिड को शामिल करना बहुत ज्यादा जरूरी माना जाता है। इन सभी का सेवन करने से हमारे बाल सुंदर और लंबे बने रहते हैं।

फाइलेरिया हाथीपाँव क्या है फाइलेरिया रोग के लक्षण और उपचार कैसे करे

यदि आप विटामिन का सेवन करते हैं। तो आपके बाल लंबे घने और मुलायम भी बने रहेंगे। यदि किसी व्यक्ति के बाल असमय और ज्यादा मात्रा में सफ़ेद हो रहे हैं। तो उन्हें यह समझ लेना चाहिए कि उनके शरीर के अंदर विटामिन A की कमी है। यदि किसी मनुष्य के शरीर के अंदर विटामिन ए की कमी है। तो इसका सबसे पहला प्रभाव उस इंसान के बालों पर ही आता है। विटामिन ए की पूर्ति करने के लिए हमारे भोजन में हरी सब्जी को शामिल करना अति आवश्यक है। हरी पत्तेदार सब्जियों में विटामिन ए सबसे ज्यादा और प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। यदि किसी व्यक्ति का असमय बाल झड़ना और सफेद होना शुरू हो गया है। तो उन्हें अपने भोजन में विटामिन बी कॉन्प्लेक्स का भी सेवन करना अति आवश्यक है। (15 दिनों में बालो से जुडी समस्याओं का समाधान आयुर्वेद के साथ)

 

 

बालों के असमय सफेद होने में विटामिन बी कांप्लेक्स की कमी सबसे ज्यादा होती है। यदि आप विटामिन बी कॉन्पलेक्स का सेवन करते हैं। तो आपके असमय सफेद हुए बाल फिर से काले और घने होने लगते हैं। विटामिन बी कांपलेक्स की पूर्ति के लिए हमें अपने भोजन में पनीर टमाटर पत्तेदार सब्जियां धनिया मटर लाल मिर्च दूध दही सोयाबीन इत्यादि का सेवन भरपूर मात्रा में करना चाहिए। इन सभी चीजों के सेवन से हमारे शरीर के अंदर विटामिन बी कांपलेक्स की पूर्ति होती है। और विटामिन बी कांप्लेक्स हमारे शरीर के अंदर कई परेशानियों को भी दूर करता है। विटामिन बी कांप्लेक्स के सेवन करने से रक्त संबंधी कई रोगों में भी यह बहुत फायदेमंद साबित होता है।

Asthma अर्थात दमा के विकार के उपचार

आप सभी ने आंवले का नाम अवश्य सुना होगा। बालों की हर तरह की समस्याओं को दूर करने के लिए आंवला सबसे उपयुक्त माना जाता है। यदि आप रोजाना दो आंवले का सेवन किसी भी रूप में करते हैं। तो आपके बालों में होने वाली क्षति को रोका जा सकता है। आंवला के सेवन करने के लिए आंवले का अचार आंवले का मुरब्बा और आंवले का जूस आंवले की चटनी यह साबुत आंवले का सेवन भी कर सकते हैं। यदि आप रोजाना किसी न किसी रूप में आंवले का सेवन करते हैं। तो आपके बाल कभी सफेद नहीं होंगे। आपने किस सेवन करने से हमारे बाल लंबे घने और काले बने रहते हैं।

 


अगर आप भी बाल झड़ने, व गंजेपन से परेशान है तो आज ही आयुर्वेदिक औषधि व उपचार पाने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें https://waapp.me/wa/uaErwe7f

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
Loading...