तुलसी के बीज का उपयोग कैसे करें आयुर्वेदिक टिप्स

हिंदु धार्मिक ग्रंथों में तुलसी को एक उच्च स्थान दिया गया है। हिंदू तुलसी को मां कहकर पुकारते हैं और इसकी पूजा भी करते हैं। अगर इससे होने वाले स्वास्थ्य लाभ की बात करें तो   इसके पत्तों से लेकर इसके बीजों के सेवन से अद्भुत स्वास्थ्य लाभ होते हैं। आइए आपको बताते हैं तुलसी के बीजों के सेवन से होने वाले स्वास्थ्य लाभ…..

मधुमेह होने पर तुलसी(सब्जा) के बीजों का सेवन अत्यन्त लाभकारी होता है। इसमें प्रोटीन, फाइबर और आयरन अत्यधिक मात्रा में होता है। इसके अलावा इसे वजन घटाने, ब्लड प्रैशर कम करने, पाचनशक्ति बढ़ाने, खांसी-जुकाम कम करने, इम्यूनिटी बढ़ाने और फ्लू की रोकथाम करने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

अगर आपको दाढ़ी रखने का शौक है तो आपको यह खबर जरूर पढ़नी चाहिए

तुलसी के बीजों को इस्तेमाल में लाने से पूर्व आपको इस बात को जान लेना जरूरी है कि तुलसी की खास प्रजाति जिसे सब्जा के बीज वाली तुलसी(Sweet Basil) कहते हैं, के ही बीजों को इस्तेमाल में लाना चाहिए। हर प्रकार की तुलसी के बीजों का इस्तेमाल करने से आपको स्वास्थ्य लाभ नहीं होगा। इससे आपको नुकसान भी हो सकता है।

कैसे करें इस्तेमाल
आप इन बीजों का काड़ा बनाकर इसका सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा इन बीजों को दही में डालकर सेवन करने से आपकी जुबान को एक नया स्वाद भी मिलेगा। गर्मी के मौसम में इसके भीगे हुए बीजों को पेय पदार्थ में डालकर सेवन करने से शरीर को ठंडक मिलती है। फालूदा में अक्सरकर आपने इन बीजों को देखा होगा।

एक गिलास पानी में थोड़ा शहद और सब्जा के बीज मिलाकर पीने से ब्लैडर, किडनी, वैजाइनल इन्फेक्शन भी ठीक हो जाता है। यह (तुलसी) के बीज दक्षिण-पूर्व एशिया में लोकप्रिय हैं जहां उन्हें साबूदाना, तुकमलंगा, के बीज के रूप में जाना जाता है। पाचक एंजाइमों से युक्त सब्जा के बीज पाचन तन्त्र को स्वस्थ रखते हैं।

सब्जा के बीज वजन कम करने में सहायक होते हैं। इन बीजों में भरपुर मात्रा में फाइबर होता हैं, जिनके सेवन से पेट काफी देर तक भरा रहता है और वजन नियंत्रण में रहता है। Sabja के बीज शरीर का प्राकृतिक रूप शोधन करते हैं और अपच, कब्ज, दस्त या पेचिश जैसी समस्याओं के इलाज में मदद करते हैं। इन बीजों की अहमियत इस बात से समझी जा सकती है कि आयुर्वेद में इसके बीजों को अन्य किसी बीज से ऊपर स्थान दिया गया है।

काले चने सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। इसका प्रयोग किसी भी रूप में किया जाए, यह सेहतमंद ही होता है, लेकिन अंकुरित कर खाने पर आप इसके पोषक तत्वों का दुगुना लाभ उठा सकते हैं।
डॉ नुस्खे गोक्षुरादि चूर्ण को आर्डर करने के लिए दिए गए लिंक  https://waapp.me/wa/9VwNkQC4  पर क्लिक करें या कॉल करें  8882144978
गोक्षुरादि चूर्ण यह शंभोग शक्ति बढ़ाने वाला और शीघ्रपतन रोग नष्ट करने वाला अद्भुत चूर्ण है
काले चने फाइबर से भरे होते हैं। इसे भिगोकर खाना पेट के लिए बहुत लाभदायक होता है। कब्ज की शिकायत होने पर यह आपके लिए बेहद फायदेमंद साबित होते हैं। लेकिन इसका प्रयोग छिलकों के साथ ही करें।
सुस्ती और थकान से ब चने के लिए भी काले चने आपकी मदद कर सकते हैं। आपने सुना तो होगा, कि चने खाने से घोड़े जैसी फुर्ती आती है। जी हां, अगर आप लगातार उर्जावान बने रहना चाहते हैं, तो प्रतिदिन अंकुरित चने खाएं, कुछ ही दिनों में आप स्फूर्ति महसूस करने लगेंगे।
4 अगर आपको ब्लड शुगर या डाइबिटीज की समस्या है, तो काले चने आपके लिए एक कारगर उपाय साबित हो सकते हैं। यह रक्त में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करता है और शरीर में ग्लूकोज की अतिरिक्त मात्रा को भी कम करने में मदद करता है। इसके लिए सुबह खालीपेट इसका सेवन करना फायदेमंद होता है।
डॉ नुस्खे Weh-on किट को आर्डर करने के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करें  https://waapp.me/wa/9VwNkQC4  या कॉल करें  8882144978
 डॉ नुस्खे weh-on किट वजन स्टेमिना और ताक़त बढ़ाने की आयुर्वेदिक औषधि
5 एनिमिया से बचाव के लिए भी चना एक बेहतरीन दवा है। इसका प्रयोग गुड़ के साथ करना बेहतर होता है। दरअसल
इसके प्रयोग से शरीर में आयरन की कमी नहीं होती और इसमें मौजूद फास्फोरस और आयरन नई रक्त कोशिकाओं को बनाने में सहायक होते हैं और हीमोग्लोबिन के स्तर को भी बढ़ाते हैं, जिससे एनिमिया की संभावना कम हो जाती है।
6 यूरिन संबंधी रोग होने पर भी काले चने बेहद फायदेमंद होते हैं, इसे न केवल अंकुरित कर बल्कि भून कर खाने से से भी बार-बार पेशाब आना और अन्य रोगों में राहत मिलती है।
7
रात को चीनी मिट्टी के बर्तन में भिगोए गए चनों का सुबह सेवन करना, पुरूषों के लिए बेहद फायदेमंद होता है। इससे शरीर की कमजोरी दूर होने के साथ ही अन्य समस्याएं भी समाप्त होती हैं। इसके साथ दूध का सेवन भी कि‍या जा सकता है और भीगे हुए चनों के पानी में शहद मिलाकर पीने से पुरुषत्व में वृद्धि‍ होती है।
त्वचा की रंगत को नि‍खारने के लिए इस का प्रयोग किया जाता है। इसके लिए भीगे हुए चने को दूध के साथ पीसकर इसमें शहद और हल्दी मिलाकर लगाने से त्वचा का रंग साफ होता है, और त्वचा दमकने लगती है।
डॉ नुस्खे हॉर्स पावर किट को आर्डर करने के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करें  https://waapp.me/1FKMKXgq  या कॉल करें  8882144978
डॉ नुस्खे हॉर्स पावर किट वीर्य को करें गाढ़ा और वीर्य पर पाएं नियंत्रण

ankit1985

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

अपने खोये हुए प्यार को वापस अपनी जिंदगी में कैसे लाये

Thu Feb 27 , 2020
हिंदु धार्मिक ग्रंथों में तुलसी को एक उच्च स्थान दिया गया है। हिंदू तुलसी को मां कहकर पुकारते हैं और इसकी पूजा भी करते हैं। अगर इससे होने वाले स्वास्थ्य लाभ की बात करें तो   इसके पत्तों से लेकर इसके बीजों के सेवन से अद्भुत स्वास्थ्य लाभ होते हैं। […]
Loading...
Loading...