आज गुरुवार के दिन भगवान विष्णु के टोटके होगी धन वर्षा

हिन्दू धार्मिक पर्वों में एकादशी व्रत का बड़ा महत्व है। इसमें भी देव उठनी एकादशी का बहुत महत्व है, इसे देवोत्थान और देव प्रबोधिनी एकादशी के नाम से जानते हैं उसका विशेष महत्व है। यह प्रत्येतक वर्ष कार्तिक मास के शुक्लद पक्ष की एकादशी को मनाई जाती है। इस दिन भगवान श्रीहरि चतुर्मास की लंबी निद्रा के बाद जागते हैं। इसलिए इस दिन भगवान विष्णु  की पूजा पूरे विधि-विधान के साथ की जाती है। इस दिन से 4 महीने के लंबे अंतराल के बाद शुभ मांगलिक कार्यों की शुरुआत भी हो जाती है। ऐसे में तुलसी विवाह के साथ ऐसे कई मांगलिक कार्य से भगवान विष्णु की स्तुति की जाती है। इस दिन भगवान विष्णु को प्रसन्न करने से मनोकामना पूरी होती है। साथ ही आप हर गुरुवार को यह सभी कार्य करके भगवान विष्णु को प्रसन्न कर सकते हैं-

रोजाना खासकर गुरुवार को करें भगवान विष्णु का पाठ 
सुबह नहाने के बाद भगवान के आगे घी का दीपक जलाकर भगवान विष्णु का आह्वान करते हुए उनका पाठ करें। गुरु को धन का कारक माना जाता है, भगवान विष्णु  के प्रसन्न होने पर धन की कभी कमी नहीं होती।

पीले रंग के वस्त्र धारण करें 
पीले और लाल रंग को शुभ माना जाता है। वहीं, पीला रंग भगवान विष्णु को भी बहुत प्रिय है। आप पीले रंग के कपड़े पहनने के अलावा हल्दी का तिलक भी लगा सकते हैं।

केले के पेड़ की करें पूजा 
आप केले के पेड़ की पूजा करने के अलावा शाम को इसके नीचे दीया जलाकर भगवान विष्णु की स्तुति कर सकते हैं।


पीले रंग की चीजें करें दान 
दान करने को सबसे बड़ा पुण्य माना जाता है लेकिन पीले रंग की चीजें दान करने से भगवान विष्णु प्रसन्न होते हैं। आप दाल, गुड़ और पीले वस्त्र किसी जरुरतमंद को दान कर सकते हैं।

जानवरों को भोजन 
ईश्वर को जानवर बहुत प्रिय होते हैं इसलिए आप गाय, कुत्ता, बकरी, भैंस, कौआ आदि जानवरों को भोजन देकर उनकी भूख शांत कर सकते हैं, इससे भगवान विष्णु आपसे प्रसन्न होंगे।

ankit1985

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

अस्थमा, मोटापा, छोटे स्तन, कमजोरी, वजन कम को दूर करने के लिए आजमाएं ये आयुर्वेदिक नुस्खे

Thu Jun 25 , 2020
हिन्दू धार्मिक पर्वों में एकादशी व्रत का बड़ा महत्व है। इसमें भी देव उठनी एकादशी का बहुत महत्व है, इसे देवोत्थान और देव प्रबोधिनी एकादशी के नाम से जानते हैं उसका विशेष महत्व है। यह प्रत्येतक वर्ष कार्तिक मास के शुक्लद पक्ष की एकादशी को मनाई जाती है। इस दिन […]
Loading...
Loading...