गुलाब के फूलों में छुपे हैं औषधीय गुण, जानिए फायदे और इस्तेमाल का तरीका

बता दें कि गुलाब की पत्तियां वजन घटाने में ही नहीं बल्कि कई अन्य बीमारियों को दूर करने के काम में आती है।

गुलाब को इसके गुणों की वजह से फूलों का राजा कहा जाता है। यह जितना खुशबूदार, सुंदर और मनमोहक है उतना ही फायदेमंद भी है। आपने गुलाब जल के फायदों को बारे में सुना होगा। गुलाब जल थकी हुई आंखों को फौरन राहत पहुंचाने में बहुत कारगर होता है। इसके अलावा गुलाब जल बाल और स्किन के लिए भी लाभकारी होता है। लेकिन हम आपको गुलाब के फूलों से होने वाले लाभ के बारे में बता रहे हैं। लाल गुलाब के फूल हमारी ऊर्जा में वृद्धि करते हैं। यह हमारी ‘एड्रीनल ग्रंथि’ को प्रभावित करते हैं। गुलाब के रस का स्वाद तीखा, चिकना, कषैला और मीठा होता है। गुलाब का उपयोग करने से दिल, दिमाग और आमाश्य की शक्ति में वृद्धि होती है जिससे इनकी क्रिया भी ठीक होने लगती है। इसके अलावा गुलाब की पंखुडिय़ों में लैक्सटिव और डाइयुरेटिक गुण भी होते हैं, जो पेट को साफ करने, बॉडी से टॉक्सिन को बाहर निकालने, मेटाबॉलिज्म को बेहतर करने और वजन कम करने में मदद करते हैं। आइए आज हम आपको गुलाब के औषधीय गुणों से रूबरू कराते हैं।

वजन घटाने के लिए : गुलाब के फूल में ऐसे गुण पाए जाते हैं जो वजन घटाने के लिए बेहद कारगर साबित होता है। गुलाब की 10 से 15 पखुंड़ियों को पानी में उबालें। जब पानी पूरी तरह गुलाबी हो जाए उसमें एक चम्मच शहद और एक चुटकी दालचीनी पाउडर डालकर सेवन करें।

Dr Nuskhe nari यौवन kit ऑर्डर is करने के लिए क्लिक करें

https://waapp.me/wa/49UV4u5S

थकावट के लिए : अगर आप बहुत जल्द थकान महसूस करने लगते हैं तो गुलाब के फलों का इस्तेमाल करें। थकान दूर करने के लिए गुलाब की 10 से 15 पंखुड़ियों को पीस लें। इसमें एक बूंद चंदन का तेल मिलाकर शरीर की मालिश करें।

लू से बचने के लिए : गर्मियों के मौसम में लू से बचने के लिए गुलाब के फूल काफी लाभकारी होते हैं। गुलाब की 10 पंखुड़ियों को पीसकर इसमें एक गिलास पानी में डाल दें। अब एक साफ कपड़े को इस पानी में भिगोकर निचोड़ लें। निचाड़े गए कपड़े को सिर पर रखें। इसके अलावा गुलाब के गुलकंद का सेवन करने से पूरे शरीर में ठंडक महसूस होती है और लू से बचा जा सकता है।

कील-मुंहासों के लिए : गुलाब के फूलों अपने आप में एक अच्छा मॉइस्चराइजर है। गुलाब पंखुड़ियों में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं मुंहासे सूखने में मदद करता है। इसके अलावा एंटीसेप्टिक यौगिक, फेनिल इथेनॉल की उपस्थिति, मुंहासे के खिलाफ प्रभावी रोजवाटर बनाती है। रात में पानी में मेथी के कुछ बीज भूनें और गुलाब के पानी को जोड़कर एक अच्छा पेस्ट बनाएं। इसे अपने चेहरे पर लगाएं, 20 मिनट तक छोड़ दें और गुलाब के ठंडे पानी से धो लें।

हाथ-पैरों की जलन के लिए : गर्मी के कारण हाथ-पैरों में जलन, पेट में गड़बड़ी, एसीडिटी आदि समस्या हो तो गुलाब का शर्बत बनाकर पीएं इससे लाभ मिलेगा। इसके अलावा हथेली और तलुवों में जलन हो तो चंदन पाउडर और गुलाब जल मिलाकर इससे हथेली और तलुवों पर लेप करें।

डॉ नुस्खे Brain शक्ति किट ऑर्डर करने के लिए लिंक पर क्लिक करें

https://waapp.me/wa/d1jgLLZF

डायबिटीज में लाभकारी
हल्दी डायबिटीज के रोगियों के लिए लाभकारी है। इसके लिए हल्दी को  एक चम्मच आंवले के रस, एक चम्मच शहद और एक चम्मच गिलोय के रस के साथ मिलाकर पिएं।

शुगर से पीड़ित है तो आज ही घर बैठे शुगर की आयुर्वेदिक दवा प्राप्त करने के लिए लिंक पर क्लिक करें https://waapp.me/wa/uHW472wu

रक्त की सफाई करे हल्दी 
हल्दी के सेवन से रक्त साफ होता है।  इसके सेवन से रक्त में मौजूद विषैले तत्व बाहर निकल जाते हैं। अगर चोट लगने पर तेजी से खून बह रहा है, तो आप उस जगह तुरंत हल्दी डाल दें।  इससे खून बहना रुक जाएगा।

 

नशा मुक्त भारत
अगर आप भी किसी नशे की लत से परेशान है तो आज ही निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और घर बैठे प्राप्त करें #G1 DROP 
https://waapp.me/wa/9f2CGSo5

 

 

क्या नशे के कारन आपकी सेक्स लाइफ बर्बाद हो चुकी है तो घबराइए नहीं आ गया इस इसका सफल आयुर्वेदिक इलाज घर बैठे प्राप्त करने के लिए लिंक पर क्लिक करें

Dr. Nuskhe #G1 Drop Kit https://waapp.me/wa/nMWHtuw7

स्त्रियों के लिए हल्दी का उपयोग 
महिलाओं में होने वाले श्वेत प्रदर या ल्युकोरिया जैसे रोगों में हल्दी अत्यंत गुणकारी औषधि है। इसके लिए पांच ग्राम हल्दी और अंजीर के तीन टुकड़े का सेवन करने से लाभ होता है।

और भी हैं हल्दी के इस्तेमाल

’हल्दी, खाने वाला चूना और शहद का लेप  बना कर इसे मोच, ऐंठन, चोट  या शरीर में आई सूजन वाली जगह पर लगाने से तुरंत लाभ होता है।
’एनीमिया, पीलिया, बवासीर, सांस के रोग और लगातार हिचकी आने की स्थिति में हल्दी और काली मिर्च के धुएं  को सूंघने से लाभ होता है।
’चर्म रोगों में एक चम्मच कच्ची हल्दी और एक चम्मच आंवले के रस को पानी के साथ लेने से लाभ होता है।

 


’देसी घी से यदि दुर्गंध आ रही हो, तो उसे दूर करने के लिए हल्दी के पत्तों को पीसकर घी के साथ उबाल लें। इसके बाद इसे छान लें। इससे घी की दुर्गंध दूर हो जाएगी।
’खुजली, दाद या त्वचा पर चकत्ते पड़ जाने पर हल्दी को गौ मूत्र के साथ मिलाकर इसका लेप प्रभावित जगह पर लगाएं, इससे जल्द आराम मिलेगा।

मोटापा दूर करे 
मोटापा कम करने के लिए हल्दी, नीबू, पुदीना, तुलसी और अदरक को आपस में मिलाकर चटनी बना लें। इसका नियमित सेवन करें, मोटापे पर काबू पाने में सफलता मिलेगी।

मोटापे से परेशान है तो आज ही घर बैठे प्राप्त करें Dr. Nuskhe Weight Loss Kit

https://waapp.me/wa/nMWHtuw7

 

मौसमी रोगों में फायदेमंद
’हल्दी की गांठों को नियमित रूप से चूसने से खांसी में राहत मिलती है। खांसी में हल्दी को भूनकर आधा चम्मच शहद या देसी घी के साथ खाने से भी लाभ होता है।
’जुकाम होने पर हल्दी पाउडर या हल्दी की गांठ को चूल्हे पर गर्म कर इससे निकलने वाले धुएं को सूंघें, लाभ होगा।
’सिरदर्द होने या चक्कर आने पर हल्दी का लेप सिर पर लगाने से लाभ होता होता है।
बरतें सावधानी

हल्दी का सेवन 3 से 5 ग्राम की मात्रा में ही करना चाहिए। विशेष स्थिति में आयुर्वेद विशेषज्ञ की सलाह से इसका सेवन करना चाहिए।

 

मानसिक तनाव रहना, सही से नींद न आना जैसी दिमागी बिमारियों के लिए आयुर्वेदिक तैयार नुस्खा
घर बैठे प्राप्त करने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें

Dr. Nuskhe Brain Prash https://waapp.me/wa/9cN9R1yK

&&&&&&&&&&&&&&&&&&&&&&&&&&&&&&&&&&&&&&

नपुंसकता के रोगियों के लिए दुनिया का सबसे बेहतरीन इलाज|

हर तरफ से निराश और परेशान S*x रोगी एक दफा जरूर मिलें
डॉ नुस्खे कामदेव किट

नामर्दी, वीर्य की कमजोरी और शीघ्रपतन का इलाज

ankit1985

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

घरेलू उपाय: ये है बूढ़ो को जवान बनाने वाली स्पेशल आयुर्वेदिक

Sat Mar 21 , 2020
बता दें कि गुलाब की पत्तियां वजन घटाने में ही नहीं बल्कि कई अन्य बीमारियों को दूर करने के काम में आती है। गुलाब को इसके गुणों की वजह से फूलों का राजा कहा जाता है। यह जितना खुशबूदार, सुंदर और मनमोहक है उतना ही फायदेमंद भी है। आपने गुलाब […]
Loading...
Loading...