से*स के दौरान महिलाओं को संतुष्ट करने के तरीके

से*स के दौरान महिलाओं को संतुष्ट करने के तरीके अनेक है लेकिन सेक्स एक ऐसा शब्द है जिसके बारे में ज्यादातर लोग बात नहीं करना चाहते बस इसे करना चाहते हैं लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि से*स सिर्फ करने और खुद को संतुष्टि दिलाने के लिए होता है से*स एक मानसिक और भावनात्मक रूप से जुड़े दो ऐसे पार्टनर्स के बीच होता है जो कि इसका बराबर आनंद लेना चाहते हैं लेकिन अक्सर यह देखा गया है कि से*स के दौरान महिलाओं को संतुष्टि प्राप्त नहीं होती कहने का मतलब है कि महिलाएं अपने ऑर्गैज़म को प्राप्त नहीं कर पाती।

क्योंकि अक्सर से*स के दौरान पुरुषों को केवल अपनी फिक्र होती है और वह अपनी खुशी और ऑर्गेज्म के बारे में ही सोचते हैं लेकिन ऐसा बिल्कुल गलत है क्योंकि से*स करना और उसका आनंद लेना दोनों के लिए आवश्यक है आज हम आपको से*स के दौरान महिलाओं को संतुष्ट करने के तरीकों के बारे में बताने वाले हैं कि आप किस प्रकार एक महिला को से*स के दौरान संतुष्ट कर सकते (Mahilao ko S*x Me Kaise Santust Kare) हैं और ऑर्गैज़म का आनंद दिला सकते हैं।

 

से*स के दौरान महिलाएं इन कारणों से रह जाती हैं असंतुष्ट – Reason women are unsatisfied in the bedroom

  • जल्दबाजी में किया जाने वाला से*स कारण होता है महिलाओं कि असंतुष्ट रह जाने का।
  • एक अच्छे मूड की कमी असंतुष्टि का कारण हो सकती है।
  • से*स को लेकर अत्यधिक तनाव भी असंतुष्टि का कारण होता है।
  • से*स क्रिया करते समय अपने आप को असहज महसूस करना भी होता है असंतुष्टि का कारण।
  • से*स करते समय योनि में दर्द भी हो सकता है असंतुष्टि का कारण।
  • फोरप्ले की कमी बनती है महिलाओ की असंतुष्टि का कारण।
  • योनि में चिकनाहट की कमी भी हो सकती है से*स के दौरान असंतुष्टि का कारण।
  • ऐसे कई कारण हैं जो महिला को बेडरूम में असंतुष्ट छोड़ने के पीछे हो सकते हैं।

 

एक स्वस्थ से*स सम्बन्ध के लिए जरूरी है मानसिक शान्ति :

से*स के लिए जरुरी है कि आपका मन अच्छा हो और और कोई झुंझलाहट भी न हो , अर्थात से*स कोई नशा नहीं है जो कि थकान होने पर या चिड़चिड़ाहट होने पर रिलैक्स होने के लिए कर लिया जाए| बल्कि इसके ठीक उलट शांत मन से किया गया सेक्स रिश्तों के लिए सबसे प्रभावी होता है | ध्यान रहे जिस समय मन पर कोई भी दवाब न हो उस समय किया गया सेक्स हमेशा सकारात्मक और संतुष्टि देने वाला होता है |

समय चुनें नहीं बनाएं :

ये जरुरी नहीं कि एक ही समय में दोनों ही से*स के लिए तैयार हों , यदि आप से*स के इच्छुक हैं तो अपने साथी को इसके लिए इच्छुक बनाएं | जैसा कि हमने पहले कहा कि यह दवाब या विवशता से नहीं होना चाहिए| आप पूर्व क्रियाओं ,मधुर संवादों या रोमांटिक फिल्मों और गानो के द्वारा ऐसा कर सकते हैं, सबसे उपर्युक्त समय वही होता है जब दोनों शरीर और मन प्रेमालाप के लिए आतुर हों | हालांकि से*स के लिए हर अनुकूलता वाला समय ठीक है फिर भी इन समयों पर किया गया से*स आपसी प्रेम और विश्वास को अधिक गहरा करता है |

 

से*स करते समय जल्दबाजी ना करें – Don’t Force to Have a S*x

सबसे जरूरी बात यह है कि से*स को कभी भी किसी काम की तरह नहीं देखना चाहिए और इसमें बहुत जल्दबाजी नहीं दिखानी चाहिए क्योंकि इस तरीके से से*स को करने पर आपके साथी को संतुष्टि दिला पाना बहुत ही मुश्किल होता है महिलाओं की कामेच्छा को बढ़ाने में काफी समय लगता है और उन्हें ऑर्गैज़म प्राप्त होने में भी उतना ही अधिक समय लगता है इसलिए पुरुषों को यह जानना चाहिए कि से*स के समय अधिक से अधिक समय फोरप्ले को दें ताकि महिला को अपनी कामेच्छा बढ़ाने के लिए पर्याप्त समय मिल जाए और वह से*स का पूरा आनंद उठा पाए जिससे आप से*स के दौरान महिलाओं को संतुष्ट कर पाएंगे।

 

 

 

से*स करते समय बीच-बीच में थोड़ा रुकें –

अगर आप से*स करते समय कंटिन्यू ही अपने आप को उसमें जारी रखेंगे तो आप जल्दी ही से*स को खत्म कर देंगे और इससे आपकी साथी भी असंतुष्ट रह जाएगी, से*स करते समय आपको बीच में थोड़ी देर रुकना है मतलब यह है कि आप अपनी गति और शारीरिक क्रिया को उस समय रोक दें और अन्य क्रियाकलाप जैसे कि चुंबन करें और जब आपको लगे कि आप अब फिर से तैयार हैं तो आप अपने से*स सेशन को शुरू करें इस प्रकार आप अपने रोमांस और अपनी शारीरिक शक्ति दोनों का इस्तेमाल सही तरीके से कर पाएंगे जिससे आप से*स के समय को भी बढ़ा लेंगे और अपने साथी को भी संतुष्टि दे पाएंगे।

 

सुबह सुबह उठने से पहले :

इटैलियन शोधकर्ताओं के अनुसार, इस वक्त महिला और पुरुष दोनों में टेस्टोस्टेरॉन का लेवल सबसे उच्च होता है| से*स संबंधों के लिए टेस्टोस्टेरॉन पहली आवश्यकता है. सुबह का से*स न सिर्फ आपसी मधुरता बढ़ता बल्कि यह शरीर के लिए लिए भी लाभ दायक है, इतना ही नहीं इस समय एक असीम ऊर्जा का संचरण शरीर में होता है. वहीं मानसिक रूप से भी दोनों कहीं उलझे हुए नहीं होते हैं. इस लिहाज से देखा जाए तो से*स के लिए इससे बेहतर समय कोई दूसरा नहीं हो सकता.इससे आप पूरे दिन खुश रहते हैं और अन्य कामों में भी रूचि आती है | यह सबसे प्राकृतिक और ताज़ा सम्भोग होता है जिसमें आप अपने शरीर की प्राकृतिक अभिव्यक्तिओं पर बनावटी नियंत्रण नहीं रख पाते |

 

करें वही जो आपके साथी को पसंद हो – 

कई बार देखा गया है कि पुरुष अपने साथी की इच्छाओं को जाने बगैर ही से*स करते हैं और कई बार जिस तरीके से वह फोरप्ले और अन्य चीजें करते हैं उस से महिला पसंद नहीं करती इसलिए उन्हें से*स में आनंद की प्राप्ति नहीं होती आपको यह प्रयास करना चाहिए कि आपका साथी क्या चाहता है इसके लिए आप उन से सीधे ही बात कर सकते हैं और इसमें किसी भी प्रकार की शर्म आने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि यह आप दोनों की से*स लाइफ के लिए बहुत ही आवश्यक है।

 

से*स करते समय अपने साथी की भागीदारी पर ध्यान दें –

जब भी आप इंटरकोर्स कर रहे होते हैं तो यह आवश्यक है कि आप अपने साथी की हरकतों को ध्यान दें क्योंकि यह कोई मशीन के द्वारा किया जाने वाला से*स नहीं है इसमें मानवता होना बहुत आवश्यक है जिसमें दोनों का सहयोग होना चाहिए ताकि दोनों इसका पूरा आनंद ले पाए आप अपने साथी को भी इसमें शामिल करें और कोशिश करें कि कुछ हिस्सा वह भी करें जैसे कि वूमेन ऑन टॉप की पोजीशन आदि।

 

घर बैठे इस दवा को मंगवाने के लिए  Whatsapp  या Call करे 7827204210 या लिंक पर क्लिक करें  http://wassmee.us/w/?c=c921

 

ankit1985

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

ब्रेस्ट का आकार बढ़ानेऔर सुडौल बनाने के घरेलू उपाय

Sat Jul 27 , 2019
से*स के दौरान महिलाओं को संतुष्ट करने के तरीके अनेक है लेकिन सेक्स एक ऐसा शब्द है जिसके बारे में ज्यादातर लोग बात नहीं करना चाहते बस इसे करना चाहते हैं लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि से*स सिर्फ करने और खुद को संतुष्टि दिलाने के लिए होता है […]
Loading...
Loading...