Loading...

हमेशा से विवाह टूटने का अहम कारण होता हैं अंसतुष्ट वैवाहिक जीवन या खराब सेक्स लाइफ। और इसका प्रमुख कारण है सेक्स समस्याएं जो समय के साथ अगर न सुलझाई न जाएं तो रिश्ता बचा पाना नामुमकिन हो जाता है। सेक्सोलॉजिस्ट डॉ कमल कहते हैं कि शरीर की अन्य समस्याओं की तरह सेक्स संबंधी समस्याएं भी आम हैं। सेक्स करने के दौरान संतुष्टि ना होना या फिर शादी के बाद महिला या पुरुष में सेक्स को लेकर उत्तेजना ना होना जैसी कई सेक्स समस्याएं आम हैं।

 

पुरुषों के पेनिस में तनाव ना आना, महिलाओं की योनि का सूखापन जैसी बहुत सी सेक्स प्रॉब्लम्स हैं, जिनके बारे में महिलाएं ही नहीं, पुरुष भी चर्चा नहीं करना चाहते। सेक्स प्रॉब्लम्स के चलते अगर समय रहते उचित सलाह और चिकित्सा न मिले तो व्यक्ति हीन भावना और डिप्रेशन का भी शिकार हो सकता है। ऐसी सेक्स प्रॉब्लम अगर सॉल्व न हों तो इसकी परिणति रिश्ता टूटने से लेकर आत्महत्या तक हो सकती है। यहां हम आपको बता रहे हैं टॉप  10 सेक्स समस्याओं के बारे में और साथ में यह भी कि इनका निदान कैसे किया जाए…।

 

1. पुरुषों में प्री मच्योर इजेकुलेशन

 

अगर सेक्स करते समय, समय से पहले पुरुष का सीमेन निकल जाए तो इसे प्री मच्योर इजेकुलेशन कहा जाता है। यह स्थिति सेक्स लाइफ खराब कर देती है। पर यह अक्सर कोई बीमारी न होकर मन की स्थिति होती है जिसका समाधान बहुत ही आसान है।

 

समाधान

 

जब व्यक्ति सेक्स करना शुरू करता है तो ज्यादा एक्साइटमेंट के कारण प्री मच्योर इजेकुलेशन होना आम बात है। यह बीमारी कम और मानसिक स्थिति पर ज्यादा निर्भर करता है। इसका उचित कारण ढूढें। सबसे पहले किसी साइकोलॉजिस्ट की सलाह लें। नीम- हकीम के पास जाने से बेहतर इसका सही इलाज करवाएं वो भी किसी अच्छे सेक्स विशेषज्ञ से।

 

2. इरेक्टाइल डिसफंक्शन

 

कामेच्छा के समय पेनिस में तनाव न आना या आते ही पेनिस का ढीला पड़ जाना इरेक्टाइल डिस्फन्क्शन कहलाता है। इसका प्रमुख कारण भी शारीरिक न होकर मानसिक होता है। पेनिस में तनाव ना आने की सबसे बड़ी वजह चिंता करना और टेंशन लेना और सही खान पान ना होना है।

 

समाधान

 

यह सेक्स समस्या मानसिक होती है, इसीलिए इसका इलाज भी यही है कि आप सेक्स के पहले खुश रहें और पूरी तरह तनाव रहित होकर बेड पर जाएं। अगर तब भी बात न बने तो साइकोलॉजिस्ट का सहारा लें और फिर भी समस्या बनी रहे तो आखिर में सेक्सोलॉजिस्ट के पास जाएं।

 

3. दर्द भरा सेक्सुअल इंटरकोर्स

 

यह लेडीज की आम समस्या है। इंटरकोर्स के दौरान दर्द होना भी कई महिलाओं को सेक्स से दूर करता है। वेजाइना में सूखेपन, सूजन या किसी इंफेक्शन आदि के कारण यह समस्या हो सकती है।

 

समाधान

 

पार्टनर को मालूम होना चाहिए कि कब महिला को दर्द हो रहा है और कब महिला सहयोग दे रही है। जिसमें महिला आनंद उठाए, ऐसी पोजीशन में सेक्स करें तो यह समस्या उत्पन्न ही नहीं होगी। साथ ही इसके लिए एक अच्‍छा लुब्रिकेंट भी इस्‍तेमाल करना चाहिए। अगर इससे भी आराम ना हो या इंटरकोर्स के दौरान लगातार दर्द हो तो डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

4. गुप्त अंगों में इंफेक्शन

 

गुप्त अंग में खुजली एक और सेक्स समस्या है। इंफेक्शन, ठीक से वेजाइना की सफाई ना करने, कब्ज, गुप्त अंगों में इंफेक्शन आदि के कारण हो जाती है।

 

समाधान

 

यह समस्या साफ-सफाई रखने और सेक्स के दौरान कंडोम के प्रयोग से सही हो जाती है। अगर फिर भी समस्या लगातार बनी रहे तो डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

 

5. सेक्स की इच्छा में कमी

 

यह समस्या सामान्य तौर पर महिलाओं में देखने को मिलती है। महिलाओं में सेक्स की इच्छा में कमी डिप्रेशन, थकान या स्ट्रेस की वजह से हो सकती है। कई महिलाओं को शरीर के कुछ ख़ास हिस्सों पर हाथ लगाने से दर्द भी महसूस होता है या ऐसा करना उन्हें अच्छा नहीं लगता। इससे भी वो सेक्स से बचना चाहती हैं।

 

समाधान

 

इसका इलाज किसी डाक्टर या नीम- हकीम के पास न होकर पार्टनर के पास ही है। पारिवारिक कलह व रिश्तों में टेंशन न हो, इसका खास ख्याल रखें। पार्टनर को चाहिए कि वो पहले अपने साथी को और उसकी जरूरत को समझें। अगर आपका साथी आपके साथ कम्फर्टेबल होगा तो आपकी सेक्स लाइफ भी अच्छी हो जाएगी।

6. लुब्रिकेशन  की कमी

 

महिलाओं की वेजाइना में लुब्रिकेशन यानि गीलेपन को उत्तेजना का पैमाना माना जाता है। उम्र बढ़ने के साथ महिलाओं में लुब्रिकेशन की कमी सामान्य है, लेकिन यदि कम उम्र में भी किसी महिला को इसमें कमी की शिकायत होती है, तो इस समस्या का इलाज होना चाहिए। लुब्रिकेशन में कमी होने पर इंटरकोर्स काफ़ी तकलीफ़देह हो जाता है।

 

समाधान

 

इसका इलाज भी सायकोलॉजिकल है। यूं तो पार्टनर का टच ही लुब्रिकेशन में काफी मददगार होता है। कई बार महिलाओं को पार्टनर के टच से लुब्रिकेशन नहीं होता। अगर पार्टनर के छूने से बात न बने तो बाज़ार में कई तरह की लुब्रिकेंट भी उपलब्ध हैं, इनका इस्तेमाल करें।

 

7. ऑर्गाज्म  ना होना या देर से होना

 

इंटरकोर्स के दौरान स्त्रियों का ऑर्गाज्म तक ना पहुंच पाना भी एक आम सेक्स समस्या है। यह समस्या मानसिक तनाव या सेक्स के दौरान दर्द आदि के कारण हो सकती है। बेहतर ऑर्गाज्म ना होने के कारण कई अन्य शारीरिक समस्याएं भी पैदा हो सकती हैं।

 

समाधान

 

इसका सबसे बड़ा कारण है महिला का ठीक से एक्साइटेड न होना। इससे बचने के लिए सेक्स से पहले फोरप्ले पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए और सेक्स के दौरान मन को भटकने नहीं देना चाहिए।

 

8. वेजाइनल पेन

 

कभी-कभी महिलाओ को नाभि के नीचे और प्यूबिक एरिया के आस-पास दर्द महसूस होता है। ऐसे में लुब्रिकेशन होता है, पर क्लाइमैक्स यानि ऑर्गाज्म नहीं होता। इससे इस एरिया में खून कम जाता है और दर्द होने लगता है।

 

समाधान

 

इसके लिए भी सेक्स के समय पोजीशन और साथी के मन स्थिति का ध्यान रखना जरूरी होता है। अगर फिर भी बात न बने तो डाक्टर की सलाह लें।

 

9. इंपोटेंसी यानि नपुंसकता

 

इंपोटेंसी के लिए डायबटीज, हाई ब्लडप्रेशर, चर्बी की अधिकता आदि कारण प्रमुख होते हैं। सिगरेट, तंबाकू और एल्कोहल के सेवन से भी इरेक्शन की प्रॉब्लम हो सकती है।

 

समाधान

 

इस समस्या के निदान के लिए आप अपने शुगर लेवल और रक्तचाप को नियंत्रित रखें। साथ ही नियमित रूप से एक्सरसाइज करें। इसके बावजूद यदि समस्या का पूर्ण समाधान न हो तो आपको किसी सेक्सोलॉजिस्ट से संपर्क करना चाहिए।

 

10. पसंद और नापसंद

 

दोनों पार्टनर की सेक्स को लेकर अलग-अलग पसंद और नापसंद हो तो भी सेक्सुअल रिलेशन बनाने में समस्या हो सकती है।

समाधान

अपने पार्टनर के साथ भावनात्मक रूप से जुड़ें। अपनी पंसद और नापंसद के बारे में सेक्स से पहले ही बात कर लें। सेक्स के बारे में खुलकर बातचीत करना सेक्स को सुखद और यादगार बना सकता है।

 

घर बैठे शीघ्रपतन व् सेक्स कमजोरी का घरेलु इलाज करने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करे

https://qopi.me/244c82

 

 

पुरुषों के पेनिस में तनाव ना आना, महिलाओं की योनि का सूखापन जैसी बहुत सी सेक्स प्रॉब्लम्स हैं, जिनके बारे में महिलाएं ही नहीं, पुरुष भी चर्चा नहीं करना चाहते। सेक्स प्रॉब्लम्स के चलते अगर समय रहते उचित सलाह और चिकित्सा न मिले तो व्यक्ति हीन भावना और डिप्रेशन का भी शिकार हो सकता है। ऐसी सेक्स प्रॉब्लम अगर सॉल्व न हों तो इसकी परिणति रिश्ता टूटने से लेकर आत्महत्या तक हो सकती है। यहां हम आपको बता रहे हैं टॉप  10 सेक्स समस्याओं के बारे में और साथ में यह भी कि इनका निदान कैसे किया जाए…।

 

1. पुरुषों में प्री मच्योर इजेकुलेशन

 

अगर सेक्स करते समय, समय से पहले पुरुष का सीमेन निकल जाए तो इसे प्री मच्योर इजेकुलेशन कहा जाता है। यह स्थिति सेक्स लाइफ खराब कर देती है। पर यह अक्सर कोई बीमारी न होकर मन की स्थिति होती है जिसका समाधान बहुत ही आसान है।

 

समाधान

 

जब व्यक्ति सेक्स करना शुरू करता है तो ज्यादा एक्साइटमेंट के कारण प्री मच्योर इजेकुलेशन होना आम बात है। यह बीमारी कम और मानसिक स्थिति पर ज्यादा निर्भर करता है। इसका उचित कारण ढूढें। सबसे पहले किसी साइकोलॉजिस्ट की सलाह लें। नीम- हकीम के पास जाने से बेहतर इसका सही इलाज करवाएं वो भी किसी अच्छे सेक्स विशेषज्ञ से।

 

2. इरेक्टाइल डिसफंक्शन

 

कामेच्छा के समय पेनिस में तनाव न आना या आते ही पेनिस का ढीला पड़ जाना इरेक्टाइल डिस्फन्क्शन कहलाता है। इसका प्रमुख कारण भी शारीरिक न होकर मानसिक होता है। पेनिस में तनाव ना आने की सबसे बड़ी वजह चिंता करना और टेंशन लेना और सही खान पान ना होना है।

 

समाधान

 

यह सेक्स समस्या मानसिक होती है, इसीलिए इसका इलाज भी यही है कि आप सेक्स के पहले खुश रहें और पूरी तरह तनाव रहित होकर बेड पर जाएं। अगर तब भी बात न बने तो साइकोलॉजिस्ट का सहारा लें और फिर भी समस्या बनी रहे तो आखिर में सेक्सोलॉजिस्ट के पास जाएं।

 

3. दर्द भरा सेक्सुअल इंटरकोर्स

 

यह लेडीज की आम समस्या है। इंटरकोर्स के दौरान दर्द होना भी कई महिलाओं को सेक्स से दूर करता है। वेजाइना में सूखेपन, सूजन या किसी इंफेक्शन आदि के कारण यह समस्या हो सकती है।

 

समाधान

 

पार्टनर को मालूम होना चाहिए कि कब महिला को दर्द हो रहा है और कब महिला सहयोग दे रही है। जिसमें महिला आनंद उठाए, ऐसी पोजीशन में सेक्स करें तो यह समस्या उत्पन्न ही नहीं होगी। साथ ही इसके लिए एक अच्‍छा लुब्रिकेंट भी इस्‍तेमाल करना चाहिए। अगर इससे भी आराम ना हो या इंटरकोर्स के दौरान लगातार दर्द हो तो डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

 

4. गुप्त अंगों में इंफेक्शन

 

गुप्त अंग में खुजली एक और सेक्स समस्या है। इंफेक्शन, ठीक से वेजाइना की सफाई ना करने, कब्ज, गुप्त अंगों में इंफेक्शन आदि के कारण हो जाती है।

 

समाधान

 

यह समस्या साफ-सफाई रखने और सेक्स के दौरान कंडोम के प्रयोग से सही हो जाती है। अगर फिर भी समस्या लगातार बनी रहे तो डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

 

5. सेक्स की इच्छा में कमी

 

यह समस्या सामान्य तौर पर महिलाओं में देखने को मिलती है। महिलाओं में सेक्स की इच्छा में कमी डिप्रेशन, थकान या स्ट्रेस की वजह से हो सकती है। कई महिलाओं को शरीर के कुछ ख़ास हिस्सों पर हाथ लगाने से दर्द भी महसूस होता है या ऐसा करना उन्हें अच्छा नहीं लगता। इससे भी वो सेक्स से बचना चाहती हैं।

 

समाधान

 

इसका इलाज किसी डाक्टर या नीम- हकीम के पास न होकर पार्टनर के पास ही है। पारिवारिक कलह व रिश्तों में टेंशन न हो, इसका खास ख्याल रखें। पार्टनर को चाहिए कि वो पहले अपने साथी को और उसकी जरूरत को समझें। अगर आपका साथी आपके साथ कम्फर्टेबल होगा तो आपकी सेक्स लाइफ भी अच्छी हो जाएगी।

 

6. लुब्रिकेशन  की कमी

 

महिलाओं की वेजाइना में लुब्रिकेशन यानि गीलेपन को उत्तेजना का पैमाना माना जाता है। उम्र बढ़ने के साथ महिलाओं में लुब्रिकेशन की कमी सामान्य है, लेकिन यदि कम उम्र में भी किसी महिला को इसमें कमी की शिकायत होती है, तो इस समस्या का इलाज होना चाहिए। लुब्रिकेशन में कमी होने पर इंटरकोर्स काफ़ी तकलीफ़देह हो जाता है।

 

समाधान

 

इसका इलाज भी सायकोलॉजिकल है। यूं तो पार्टनर का टच ही लुब्रिकेशन में काफी मददगार होता है। कई बार महिलाओं को पार्टनर के टच से लुब्रिकेशन नहीं होता। अगर पार्टनर के छूने से बात न बने तो बाज़ार में कई तरह की लुब्रिकेंट भी उपलब्ध हैं, इनका इस्तेमाल करें।

 

7. ऑर्गाज्म  ना होना या देर से होना

 

इंटरकोर्स के दौरान स्त्रियों का ऑर्गाज्म तक ना पहुंच पाना भी एक आम सेक्स समस्या है। यह समस्या मानसिक तनाव या सेक्स के दौरान दर्द आदि के कारण हो सकती है। बेहतर ऑर्गाज्म ना होने के कारण कई अन्य शारीरिक समस्याएं भी पैदा हो सकती हैं।

 

समाधान

 

इसका सबसे बड़ा कारण है महिला का ठीक से एक्साइटेड न होना। इससे बचने के लिए सेक्स से पहले फोरप्ले पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए और सेक्स के दौरान मन को भटकने नहीं देना चाहिए।

 

8. वेजाइनल पेन

 

कभी-कभी महिलाओ को नाभि के नीचे और प्यूबिक एरिया के आस-पास दर्द महसूस होता है। ऐसे में लुब्रिकेशन होता है, पर क्लाइमैक्स यानि ऑर्गाज्म नहीं होता। इससे इस एरिया में खून कम जाता है और दर्द होने लगता है।

 

समाधान

 

इसके लिए भी सेक्स के समय पोजीशन और साथी के मन स्थिति का ध्यान रखना जरूरी होता है। अगर फिर भी बात न बने तो डाक्टर की सलाह लें।

 

9. इंपोटेंसी यानि नपुंसकता

 

इंपोटेंसी के लिए डायबटीज, हाई ब्लडप्रेशर, चर्बी की अधिकता आदि कारण प्रमुख होते हैं। सिगरेट, तंबाकू और एल्कोहल के सेवन से भी इरेक्शन की प्रॉब्लम हो सकती है।

 

समाधान

 

इस समस्या के निदान के लिए आप अपने शुगर लेवल और रक्तचाप को नियंत्रित रखें। साथ ही नियमित रूप से एक्सरसाइज करें। इसके बावजूद यदि समस्या का पूर्ण समाधान न हो तो आपको किसी सेक्सोलॉजिस्ट से संपर्क करना चाहिए।

 

10. पसंद और नापसंद

दोनों पार्टनर की सेक्स को लेकर अलग-अलग पसंद और नापसंद हो तो भी सेक्सुअल रिलेशन बनाने में समस्या हो सकती है।

 

समाधान

अपने पार्टनर के साथ भावनात्मक रूप से जुड़ें। अपनी पंसद और नापंसद के बारे में सेक्स से पहले ही बात कर लें। सेक्स के बारे में खुलकर बातचीत करना सेक्स को सुखद और यादगार बना सकता है।

 

घर बैठे शीघ्रपतन व् सेक्स कमजोरी का घरेलु इलाज करने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करे

http://bit.ly/2LZHqXV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
Loading...